यूपी और उत्तराखण्ड में जहरीली शराब से अब तक 114 लोगों की मौत

 यूपी और उत्तराखण्ड में ज़हरीली शराब से 114  लोगों  की मौत होने की सूचना मिली है, कई  गंभीर हैं , जिनका इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। यूपी के कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत के बाद शुक्रवार को अवैध शराब का कहर राजधानी से 703 किलोमीटर दूर  सहारनपुर में देखने को मिला।  यहां जहरीली शराब पीने से अब तक 72  लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कईयों की हालत गंभीर है।  मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी सख्ती दिखाते हुए जांच रिपोर्ट तलब की है।  साथ ही दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है।  मुख्यमंत्री राहत कोष की तरफ से मृतकों के परिजनों को 2  लाख रुपये और गंभीर बीमार को 50 हजार आर्थिक मदद का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री जी ने प्रमुख सचिव आबकारी को इन दोनों  जनपदों के जिला आबकारी अधिकारियों के विरुद्ध विभागीय कार्यवाई करने के निर्देश दिये हैं। साथ ही, पुलिस महानिदेशक को  इन जनपदों  के पुलिस अधिकारियों का दायित्व निर्धारित करने के लिए कहा है। उन्होंने आबकारी और पुलिस विभाग को अवैध शराब से जुड़े लोगों के विरुद्ध 15 दिनों  का संयुक्त अभियान चलाने के निर्देश भी दिये हैं।

सहारनपुर में जहरीली शराब पीने से 72 युवकों की मौत हो गई, जबकि 10 से ज्यादा गंभीर बताए जा रहे हैं।  उधर थाना गागलहेड़ी के गांव शरबतपुर में भी जहरीली शराब पीने से तीन युवकों की मौत हो गई है।  इसके आलावा अलग-अलग गाँवों से भी मौतों की खबरें आ रही हैं।  जहरीली शराब से मौत का मामला सामने आने के बाद पुलिस और जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।  जहरीली शराब पीने से हुई मौत से जहां परिवार में कोहराम मच गया वहीं ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

आईजी सहारनपुर और गोरखपुर को सौंपी जांच

डीजीपी ओपी सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब के सेवन से लोगों की मौत के मामले में जांच आईजी सहारनपुर और गोरखपुर को सौंपी है। इनको एक हफ्ते में जांच पूरी कर अपनी रिपोर्ट डीजीपी ऑफिस को सौंपनी होगी। बताया जा रहा है कि सहारनपुर में जहरीली शराब रुड़की से आई थी।

बताते चले  कि कुशीनगर में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 10 पहुंच गई है।  कुशीनगर के तरयासुजान थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने वाले 5 और लोगों की गुरुवार को मौत हो गई। बुधवार को भी 5 लोगों की मौत हुई थी।  मौनी अमावस्या के मौके पर लगे मेले में ग्रामीणों ने स्प्रिट से बनी कच्ची शराब पी थी, जिसके बाद उनकी तबियत बिगड़ गई थी।

प्रशासन ने इस मामले में थानेदार और सहारनपुर और कुशीनगर के आबकारी निरीक्षक समेत 10 लोगों को सस्पेंड कर दिया है।  कच्ची शराब बेचने वालों पर मुकदमा दर्ज कर एक कारोबारी को गिरफ्तार किया गया है। कुशीनगर शराब कांड के मुख्य आरोपी 50 हजार के इनामी दूधनाथ सिंह को गोरखपुर के सलेमगढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

 हरिद्वार में 32  मौतों की पुष्टि

आबकारी विभाग के अनुसार  “अभी तक हरिद्वार में 32  मौतों की पुष्टि हुई है , जबकि दो गंभीर हैं। 35-55 आयु वर्ग के सभी पीड़ित हरिद्वार जिले के भगवानपुर क्षेत्र में स्थित बिंदू, खरक, बालूपुर और भालसवाज गांवों के हैं। उत्तराखंड में चार पुलिसकर्मियों और 13 आबकारी विभाग के अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।

नीरज महेरे 

loading...
Close
Close