होम डिलीवरी करते दो गिरफ्तार

बिहार सरकार शराबबंदी पर अपनी कितनी भी पीठ थपथपा ले लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। जक्कनपुर थाना पुलिस को शुक्रवार की दोपहर बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस ने करबिगहिया टी के समीप होटल बिहार में चोरी-छिपे चल रहे बार पर धावा बोला और मौके से दो लोगों को गिरफ्तार करने के साथ भारी मात्रा में शराब की खेप बरामद की। गिरफ्तार आरोपितों में अरुण कुमार उर्फ अरुण साह और संतोष कुमार शामिल हैं। दोनों सीतामढ़ी जिले के नानपुर थानान्तर्गत धांधी गांव के रहने वाले हैं।

होटल की तलाशी के दौरान विभिन्न ब्रांडों की शराब की 244 बोतलें बरामद की गईं। मौके से होटल संचालक मोनू भागने में कामयाब रहा। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार वर्मा ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई की। मोनू करबिगहिया का ही रहने वाला है। उसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।कुछ दिनों से पुलिस को लगातार सूचना मिल रही थी कि दिल्ली की तरफ से आने वाली ट्रेनों से शराब की खेप पटना आ रही है। उसे करबिगहिया इलाके में ही कहीं रखा जाता है। वहीं से होम डिलीवरी कराई जा रही है।

इसके  दो जवानों को सादे लिबास में रेकी के लिए लगाया गया। जवानों को जानकारी मिली कि होटल बिहार में लोगों को पीने-पिलाने की व्यवस्था की जाती है। जवानों ने ग्राहक बनकर होटल कर्मियों का विश्वास जीता। उसके बाद उन्होंने छापेमारी के लिए उच्चअधिकारियों को संकेत दिए।

होटल में घुसते ही उन्होंने मेन गेट बंद कर दिया और सीधे बार बने कमरे में पहुंच गए। ग्राहक समझकर जवानों के लिए शराब लेकर आए अरुण और संतोष को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी निशानदेही पर पुलिस होटल के एक खुफिया कमरे में पहुंची, जहां हर दराज, आलमारी में अलग अलग ब्रांडों की विदेशी शराब की बोतलें छिपाकर रखी थीं। वहीं एक ट्रंक भी था, जिसमें झोले में डालकर शराब भरी गई थी। प्रारंभिक पूछताछ में मालूम हुआ कि प्रतिदिन दिल्ली की तरफ से आने वाली ट्रेनों से शराब की खेप इस कमरे में पहुंचती थी और यहीं से ग्राहकों के घरों तक पहुंचाई जाती थी। ज्यादातर शराब यूपी के मुगलसराय से लाई जाती हैं।

आप को बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही बिहार के के नेता का शराब पीते वीडियो वायरल हुआ था साथ की एक पुलिस अधिकारी को यूपी से बिहार शराब ले जाते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close