शराब पीकर स्वास्थ्यकर्मियों के क्वार्टर में घुस हंगामा कर रहे चिकित्सा अधिकारी गिरफ्तार

डेहरी अनुमंडलीय अस्पताल परिसर स्थित स्वास्थ्यकर्मियों के क्वार्टर में घुसकर गुरुवार रात शराब के नशे में हंगामा कर रहे एक डॉक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

क्वार्टर में रहने वाले स्वास्थकर्मी ने पुलिस को फोन पर सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने पहुंचकर गिरफ्तार कर लिया। हंगामा कर रहे गिरफ्तार डॉक्टर आशित रंजन वर्तमान में संझौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सा पदाधिकारी पद पर कार्यरत हैं। एक वर्ष पहले वे स्थानीय अनुमंडलीय अस्पताल में भी डिपटेशन पर थे।

घटना की रात में वह अनुमंडलीय अस्पताल परिसर में अपनी कार से आए थे। पुलिस ने घटनास्थल से जब्त कर लिया है। थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने बताया अनुमंडलीय अस्पताल परिसर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के क्वार्टर में रह रहे नोखा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लिपिक पद पर कार्यरत नित्यानंद पांडेय के आवेदन पर पुलिस ने कार्रवाई की है।

थानाध्यक्ष ने बताया आरोप लगाने वाले स्वास्थ्यकर्मी ने दिए आवेदन में कहा है कि गुरुवार रात 10:30 बजे डॉक्टर आशीत रंजन कार (बीआर 26पीए/2814) से आए। हमलोग अपने रूम में थे।

गाड़ी की आवाज सुनकर दरवाजा खोला तो डॉक्टर आशीत रंजन गालीगलौज करने लगे और पैसा मांगने लगे। वे काफी नशे में थे। वह बार-बार लड़खड़ाते हुए गिर भी जा रहे थे। गाली देने से लाख मना करने के बावजूद गाली देते रहे। उन्हें काफी चोट भी आई है। चिकित्सक के हंगामे के बाद पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया।

डॉक्टर के घटनास्थल पर पहुंचने पर उठ रहे सवाल

स्थानीय लोगों में चर्चा बनी रही कि संझौली में पदस्थापित डॉक्टर किस मकसद से यहां पहुंचे थे। कुछ लोगों ने बताया वह पहले भी कई बार शाम और रात में अनुमंडल अस्पताल के बाहर नजर आते रहे हैं। जब वह यहां पदस्थापित नहीं है तो उनके यहां आने का व नशा में धुत होकर हंगामा करने का मकसद क्या रहा होगा।

मामला चाहे जो भी हो नगर थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस प्राथिमकी दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। शराब के नशे में धुत चिकित्सक की मेडिकल जांच कराई गई और शराब पीने की पुष्टि होने के बाद जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया डॉक्टर की ओर से फिलहाल कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है

loading...
Close
Close