बिहार में 2020 तक हर घर को नल

बिहार सरकार ने अपने  राज्य के 150 नगर निकायों के 1741 वार्डों में मुख्यमंत्री हर घर जल नल योजना के तहत पीने का पानी पहुंचाने की तैयारी  शुरू कर दी हैं। यानी इतने वार्डों में लोगों को पीने का पानी मिलने लगेगा।  इस योजना का लगभग 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है।

इसके अलावा फारबिसगंज के 17 वार्ड, अररिया के सात वार्ड, कसबा के सात वार्ड, बारसोई में सात वार्ड, सुरसंड में छह वार्ड, बीहट में छह वार्ड, हिसुआ में चार वार्ड, बखरी में चार वार्ड आदि जैसे 18 नगर निकायों में जल्द ही काम शुरू होने की स्थिति में है। इसके अलावा 106 नगर निकायों के 1667 वार्डों में योजना की निविदा निकाली जा चुकी है, जिस पर जल्द की काम शुरू होने वाले हैं।

पटना के नगर विकास व आवास विभाग ने सभी निकायों को ओवरहेड टैंक बनाने के लिए खर्च की सीमा निर्धारित की है। विभाग की ओर प्राक्कलन बनाकर भेज दिया गया है। साथ ही विभाग की ओर से निर्देश है कि एक बार में 250 मीटर ही सड़क की खुदाई पाइपलाइन विस्तार के लिए किया जाये तथा 70 फीसदी घरों तक पानी पहुंचाने का काम पूरा होने के बाद ही राशि का भुगतान किया जाये।

इसके अलावा बड़े शहरों जैसे गया, मुजफ्फरपुर, भागलपुर आदि जगहों में अमृत मिशन के तहत बड़ी पेयजल सप्लाई योजना चल रही है।  विभाग के अधिकारियों की मानें तो राज्य के 17 छोटे नगर निकाय ऐसे हैं, जहां काम, शुरू होने की स्थिति में हो गया है। जबकि कई जगहों पर निविदा फेल होने पर दोबारा निविदा निकाली गयी है।

इन वार्डों में नहीं पहुंचा पीने का पानी

वहीं, जानकारी के अनुसार निविदा के बाद भी 415 वार्डों में अब तक काम शुरू नहीं हो पाया है।  इसमें ढाका नगर परिषद के 23, शेरघाटी के 20 वार्ड, नरकटियागंज के 19 वार्ड, जोगबनी से 13 वार्ड, पीरो के 12 वार्ड, मनिहारी के 11 वार्ड, मीरगंज के 11 वार्ड, चनपटिया के नौ वार्ड, जनकपुर रोड नौ वार्ड, कोचस के आठ वार्ड, कसबा के सात, बरबीघा के सात व अमरपुर के सात में वार्ड हैं। लेकिन उम्मीद है की जल्दी ही इन सब जगहों पर भी काम  शुरू हो जाएगा।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close