बंद कर दे कोल्ड ड्रिंक पीना चर्बी हो जायगी कम

मोटापा दुनिया की सबसे बड़ी समस्या में से एक हैं। दुनिया में अधिकतर लोग मोटापे की समस्या से परेशान रहते हैं।  वह अक्सर जिम और फिटनेस सेंटर जॉइन भी कर लेते हैं जिससे उनका शरीर मैंटेन रहे लेकिन वो इन चीजों से जल्दी लाभ न होने के कारण जिम करना ही छोड़ देते हैं। एक शोध के अनुसार यह पता चला है कि प्राय मोटापे के शिकार ऐसे ही लोग होते हैं, जो चीनी युक्त पेय पदार्थ का सेवन ज्यादातर करते हैं। हमारे शरीर के पेट, कमर और शरीर के निचले हिस्से में ज्यादातर बॉडी फैट बढ़ता है।

एक शोध के अध्ययन से पता चला है की जिन लोगों ने शक्कर वाले पेय पदार्थों को कम किया है उसके इंसुलिन प्रतिरोध में सुधार हुआ है। जामा इंटरनल मेडिसिन में सोमवार को प्रकाशित नए शोध में कहा गया है कि शुगर ड्रिंक्स बिक्री पर प्रतिबंध लगाने से पेय पदार्थों की खपत कम हो सकती है और कर्मचारी स्वास्थ्य में सुधार कर सकते है। कम से कम नौ अन्य कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय परिसरों ने कहा है कि वे चीनी पेय की बिक्री को कम करने और पानी की खपत को बढ़ावा देने के लिए इसी तरह की पहल करने जा रहे हैं।

कोल्ड ड्रिंक और सॉफ्ट ड्रिंक जैसे पेय पदार्थों को पीने से उसमे जमा कैलोरीज हमारे शरीर की चर्बी को काफी मात्रा में बढ़ा देती है। हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसार स्पोर्ट्स ड्रिंक, फ्रूट पंच, सोडा और अन्य मीठे पेय कैलोरी का सबसे बड़ा स्रोत है और अमेरिकी आहार में चीनी और मोटापा महामारी के लिए जिम्मेदार है। आलोचकों का कहना है कि पिछले 16 वर्षों में अमेरिका में चीनी-मीठे पेय पदार्थों के सेवन से मोटापे की दर में वृद्धि जारी है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close