ट्रांसजेंडर चला रहीं वॉटर प्लांट

पुणे शहर में एक वॉटर प्लांट ऐसा भी है जहां काम करने वाले सभी ट्रांसजेंडर हैं। यह प्लांट पिछले महीने एक्टिविस्ट लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने स्थापित किया है, जिसका मकसद है कि ट्रांसजेंडरों को भी रोजगार मिल सके। ट्रांसजेंडर समुदाय को आज भी तरह तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है जैसे समाज में समान अधिकार न मिलना , वहीं जॉब हासिल करने में भी उन्हें परेशानी होती है।

इस वॉटर प्लांट में चार ट्रांसजेंडर महिलाओं को जॉब दी गई है, जहां इन्हें हर महीने सैलरी मिलेगी। प्लांट में जॉब मिलने से पहले इनमें से कोई सड़क पर भीख मांगती थीं तो कोई शादियों में नाच-गाकर किसी तरह अपना पेट पालती थीं। इनमें से एक घर पर बैठी थी और परिवार को सहारा देने के लिए उनके पास कोई जरिया नहीं था।

हालांकि अभी प्लांट अपने शुरुआती चरण में है। इससे रोजाना 200 कैन मिनरल वॉटर तैयार हो रहा है। इसे पुणे में स्थित मल्टी नैशनल कंपनियों में सप्लाई किया जाता है। इस प्लांट के कॉर्डिनेटर के मुताबिक इन लोगों को नौकरी पर रखने के बाद प्लांट का उत्पादन बढ़ गया है। यह पहला प्लांट है जिसे सिर्फ टांसजेंडर चलाती हैं।’

चीयर्स डेस्क

loading...

Check Also

Close
Close
Close