झारखंड में शराबबंदी ?

शराबबंदी पर नितीश का बयान

वैसे तो बिहार में पूर्ण शराबबंदी है ,लेकिन वहां के हालात किसी से छुपे नहीं हैं।  बिहार में तस्करी से लाई गई शराब तो खुलेआम बिकती ही है, साथ ही जब भी वहां के लोगों को पीने की तलब लगती है तो वे पड़ोस के राज्यों जैसे यूपी और झारखंड जाकर शराब पी लेते हैं। लेकिन इसके बावजूद जनता दल युनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्ण शराबबंदी का समर्थन करते हुए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा यदि उनकी पार्टी झारखंड में सत्ता में आती है तो वह बिहार की तरह यहां भी पूर्ण शराबबंदी लागू करेगी। नीतीश ने शनिवार को रांची में कहा कि यह कितनी खराब बात है कि बिहार में जो लोग शराब पीना चाहते हैं वे इस काम के लिए झारखंड चले आते हैं।

रांची में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि झारखंड में भी पूर्ण शराबबंदी लागू होनी चाहिए। बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे समाज की अनेक कुरीतियां समाप्त हो जाती हैं और सामाजिक तानाबाना स्वस्थ और मजबूत होता है। उन्होंने झारखंड में आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अपनी पार्टी की राज्य इकाई को जोश से भरते हुए कहा कि उन्हें जनता के बीच में शराबबंदी के मुद्दे को जोरशोर से ले जाना चाहिए।

उन्होंने बीजेपी की सरकार और सीएम का नाम लिए बिना कहा कि राज्य में पूर्ण शराबबंदी जरूरी है। नीतीश ने कहा कि यह बड़ा ही अशोभनीय है कि बिहार में शराब की लत वाले लोग शराब पीने के लिए झारखंड का रुख करते हैं। उन्होंने झारखंड के विकास के लिए पूर्ण शराबबंदी को सही बताया।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close