क्या लकड़ी से भी बनाई जा सकती है शराब ?

‘लैंड ऑफ राइजिंग सन’ कहे जाने वाले जापान में आज से लगभग दो सौ साल पहले शराब का उत्पादन शुरू हो गया था, लेकिन पहले कभी भी ऐसा तरीका नहीं खोजा जा सका। कई साल की मेहनत के बाद आखिरकार जापानी वैज्ञानिकों ने कामयाबी हासिल कर ली। जी हां, यहां वैज्ञानिकों की एक टीम ने लकड़ी से शराब बनाने का फॉर्मूला खोज निकाला है।

फिलहाल, वैज्ञानिकों ने देवदार, बिर्च और चेरी के पेड़ से शराब बनाने का तरीका तलाशा है, लेकिन वैज्ञानिकों का कहना है कि अन्य पेड़ों से भी शराब बनाई जा सकती है। इसकी खासियत यह होगी कि कई अलग-अलग पेड़ों से अलग-अलग फ्लेवर की शराब बनाई जा सकेगी।

वैज्ञानिकों ने बताया कि देवदार की चार किलोग्राम लकड़ी से 3.8 लीटर (आठ पिंट्स) तरल मिलता, जिसमें से लगभग 15 प्रतिशत एल्कोहल होता है। शोधकर्ता केनगो मगारा ने एएफपी को बताया, हमने नए पेय पदार्थों की खोज में ब्रूड और डिस्टिल्ड संस्करणों के साथ इनका तुलना की तो पाया कि यह अन्य शराब से कहीं ज्यादा बेहतर है।

इसके अलावा लकड़ी का जैव ईंधन का उत्पादन करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है लेकिन इसमें जो घटक निकलता है वह कॉकटेल के लिए उपयुक्त नहीं रहता क्योंकि यह फ्लेवरलेस हो जाता है। फिलहाल वैज्ञानिक इस फॉमूले को अन्य पेड़ों पर आजमाने वाले है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें जापान में शराब का उत्पादन चिकित्सीय कारणों से किया गया था। अब तक यह माना जाता रहा है कि जापान में 1870 के दशक से बड़े पैमाने पर जापानी शराब बननी शुरू हुई थी।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close