केबीसी में नज़र आएंगी ‘पानी माता’

पानी माता के नाम मशहूर अमला रुइया को कौन नहीं जानता उन्होंने अपने संकल्प से राजस्थान के गावों की काया पलट दी। इस सप्ताह आने वाले ‘कौन बनेगा करोड़पति ‘ के कर्मवीर एपिसोड में अमला रुइया नजर आएंगी। शो का प्रोमो यू-ट्यूब पर रिलीज हो चुका है, जिसमें रुइया हॉट सीट पर नजर आ रही हैं। उनके प्रयासों की बदौलत 518 सूखाग्रस्त गांवों के करीब 6 लाख लोगों के जीवन में खुशहाली आई है। वे अपने चैरिटेबल ट्रस्ट की मदद से इन गांवों में 368 चैक डेम्स बनवा चुकी हैं, जो वहां के नलकूपों और हैंडपंपों को रिचार्ज करते हैं जिससे वहां के लोगों को पीने का पानी उपलब्ध होता है।

रुइया ने ‘केबीसी’ में बताया कि राजस्थान के मारवाड़ इलाके के एक जिले में साल (1999- 2000) बिल्कुल भी बारिश नहीं हुई। वहां के गांवों के लोगों को पीने और खेती के पानी की किल्लत होने लगी। ऐसे में उन्होंने संकल्प लिया कि वे किसी भी तरह वहां पानी पहुंचाकर रहेंगी। उनका संकल्प रंग लाया और आज वहां लोग खुशहाल जीवन जी रहे हैं। रुइया ने एक इंटरव्यू में बताया था, “मैंने देखा कि सरकार पानी के टैंक उन सूखाग्रस्त गांवों में भेज रही थी। लेकिन मुझे लगा कि यह समस्या का पुख्ता समाधान नहीं है। कोई ऐसा उपाय होना चाहिए, जो कि किसानों को लंबे वक्त तक फायदा दे।”

उन्होंने अपने विचार को एक्शन में बदलने के लिए आकार चैरिटेबल ट्रस्ट (ACT) बनाया और राजस्थान में पानी की समस्या पर रिसर्च करनी शुरू की। इसके बाद वाटर हार्वेस्टिंग टेक्नोलॉजी से वे वहां पीने और खेती के पानी की समस्या से निजात दिलाने में सफल हुईं।

पहला चैक डैम

रुइआ का पहला चैक डैम  प्रोजेक्ट सफल रहा। मंडावर में किसान ट्रस्ट द्वारा बनवाए गए दो चैक डैम्स की मदद से एक साल में 12 करोड़ रुपए तक की कमाई करने लगे। इसके बाद न तो किसानों ने पलटकर देखा और न ही रुइया अपने काम को आगे बढ़ाने से रुकीं। रुइया और उनकी टीम अपने प्रयासों को राजस्थान के साथ मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओड़िसा और छत्तीसगढ़ के कई गांवों तक पहुंचा चुकी है। उनके प्लान में बिहार, हरियाणा, उत्तरांचल और उत्तर प्रदेश भी शामिल हैं।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close