दिल्ली में पानी के पुराने बिल माफ

दिल्ली सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल का कहना है कि सूबे के लोगों को मंदी का वैसा एहसास नहीं हो रहा है जैसा पूरा देश में हैं। इसके पीछे के कारण बताते हुए उन्होंने दिल्ली में सरकारी स्कीमों का हवाला दिया है।

ये बातें  उन्होंने  ने चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्रीज (सीटीआई) की तरफ से आयोजित एक सम्मान समारोह में कहीं। इस मौके पर उन्होंने दिल्ली के 36 व्यापारियों को ‘नवरत्न पुरस्कार’ देकर सम्मानित भी किया। अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘मंदी के इस दौर में हमारी सरकार ने दिल्ली वालों को काफी सुविधाएं दी हैं। इसलिए उन्हें कुछ कम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हम सब चाहते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था सुधरे. दिल्ली की अर्थव्यवस्था सुधरे।

नवरत्न पुरस्कार देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘हमने बिजली के बिल 200 यूनिट तक माफ कर दिये। पानी फ्री कर दिया और पानी के पुराने बिल माफ कर दिए। अब महिलाओं के लिए बस में सफर भी फ्री हो जाएगा। अभी बहुत ज्यादा मंदी का दौर है। आज भी मैं कई व्यापारियों से मिला हूं. वो कह रहे थे कि 30 से 40 फीसदी तक कारोबार डाउन हो गया है। मैं उम्मीद करता हूं कि जल्दी अर्थव्यवस्था सुधरेगी।

इस दौरान सीएम ने वादा करते हुए कहा कि साल-दो साल में 100 फीसदी दिल्ली पानी के पाइप लाइन से कनेक्ट हो जाएगी। अभी कहीं-कहीं 1-2 घंटे पानी आता है। लेकिन सरकार ने जो प्लान बना रखे हैं उससे अगले 4-5 साल में दिल्ली में हर घर को नल से पीने का साफ पानी उपलब्ध करा देंगे।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close