“ले आ बोतल जो होगा देखा जाएगा”

बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है।  इसके वाबजूद कानून के रखवाले ही शराबबंदी की धज्जियां उड़ा रहे हैं। जिले के कुदरा थाने में पोस्टेड दारोगा यूपी से बिहार में शराब लाने के जुर्म में खुद ही अरेस्ट हो गए। शराब के साथ गिरफ्तार दारोगा का नाम ओमप्रकाश सिंह हैं, जो फिलहाल कुदरा थाने में पोस्टेड हैं। समय समय पर पुलिस महकमा से जुड़े लोग भी शराब मामले में पकड़े जा रहे हैं। यह काफी गंभीर मामला है। जिनके ऊपर शराबबंदी की जिम्मेदारी है वही इस नियम का उल्लंघन कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही मामला शुक्रवार की शाम कुदरा थाना में पदस्थापित एएसआई ओम प्रकाश सिंह के साथ देखने को मिला। जब उन्हें चार बोतल शराब के साथ डीएसपी मोहनियां ने पकड़ लिया।

इसके बाद एसपी दिलनवाज अहमद ने तत्काल प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजने का निर्देश भी दे दिया। मिली जानकारी के अनुसार एएसआई ओम प्रकाश सिंह कुदरा थाना क्षेत्र के घटांव गांव में पूर्व में हुए विवाद में घायल कामता प्रसाद यादव व ओम प्रकाश सेठ को ट्रामा सेंटर से लाने गए थे।

दारोगा ओम प्रकाश के चालक ने बताया कि यूपी से कैदी को लेकर आ रहे थे। इसी दौरान रास्ते में साहब ने बारह सौ रुपया देकर चार बोतल शराब लाने का आदेश दिया और मना करने के वाबजूद दारोगा जी नहीं माने। हमको मजबूरन शराब लाना पड़ा। ड्राइवर ने बताया क वाराणसी के टेंगना मोड़ के पास उन्होंने वाहन रोक कर 11 सौ रुपये में चार बोतल शराब खरीदी और वाहन में लेकर ही कैमूर जिले में आने लगे। इसी दौरान गुप्त सूचना के आधार पर मोहनियां के डीएसपी ने उन्हें दुर्गावती मोहनियां के बीच पकड़ लिया। इसके बाद गिरफ्तार लोगों के साथ एएसआई को भी कस्टडी में ले लिया।

 

loading...
Close
Close