लो जी…. अंतरिक्ष में भी पहुंचा दी गई शराब !

शराब जो न करे कम है, और कहां तक न पहुंच जाए, इसकी भी कोई गारंटी नहीं है। कोई सोच सकता है कि शराब अंतरिक्ष तक पहुंचेगी, लेकिन पहुंच गई। बात 1969 की है जब शराब की एक छोटी शीशी अंतरिक्ष में  पहुंच गई, जहां इससे पहले कोई पेय नहीं पहुंचा था।

1970 के दशक में, नासा यह पता लगाने की कोशिश कर रहा था कि अंतरिक्ष यात्रा को अपने अंतरिक्ष यात्रियों के लिए अधिक आरामदायक कैसे बनाया जाए। उनका सबसे अच्छा विचार अंतरिक्ष भोजन की गुणवत्ता में सुधार करना था। अखाद्य पाउडर के सूखे टुकड़ों के बजाए, उन्होंने मेनू में जमे हुए खाद्य पदार्थ, गीले पैक भोजन और पैरिशेबल्स को शामिल कर लिया। जल्द ही, अंतरिक्ष यात्री स्पेगेटी और प्राइम रिब जैसे व्यंजनों, यहां तक कि थोड़ी शराब का भी आनंद लेने लगे।

यह भी पढ़ें – जब यूपी के सीएम ने एक टल्ली मंत्री को घर से निकलवाया !

चाल्र्स बोरलैंड, अपोलो कार्यक्रम के लिए शराब चुनने के प्रभारी व्यक्ति थे। न केवल उन्हें कुछ स्वादिष्ट खोजना था, उन्हें एक ऐसी शराब की जरूरत थी जो अंतरिक्ष यात्रा की जरूरतों पर खरी उतरे। चूंकि भारी, थुलथुल बोतलों को रॉकेट में लोड नहीं किया जा सकता था। इसलिए बॉरलैंड को एक ऐसी शराब खोजने की जरूरत पड़ी, जिसे दोबारा पैक करने पर उसका स्वाद न बदले। कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के साथ काम करते हुए, बॉरलैंड ने आखिरकार शेरी को चुना। शेरी, एक फोर्टिफाइड वाइन, जो प्रसंस्करण के दौरान गरम की जाती थी। इससे यह स्थिर रहती थी, इसलिए दुबारा पैक करने पर इसके स्वाद में बदलाव की संभावना कम थी।

यह भी पढ़ें – कभी दवा थी मदिरा, अब मर्ज भी बन जाती है!

शेरी को एक विशेष प्लास्टिक की थैली में डाला गया जिसमें बिल्ट इन स्ट्रॉ था। शराब की अच्छी चुस्की का आनंद लेने के लिए अंतरिक्ष यात्रियों को थैली को सिर्फ निचोड़ना भर था। फिर भी यह योजना सफल नहीं हुई । जब जनता को इस योजना के बारे में पता चला, तो देश भर में लोग गुस्से में उठ खड़े हुए और नासा को शेरी पर प्रयोग बंद करना पड़ा। यह भी पता चला कि शून्य गुरुत्वाकर्षण में शराब से एक अप्रिय गंध फैलती है, और यह अंतरिक्ष यात्रियों पर एक और समस्या लादने जैसा था। लेकिन शैरी व्यर्थ नहीं गई। शैरी को (स्काईलैब मेडिकल एक्सपेरिमेंट एल्टीट्यूड टेस्ट) कार्यक्रम में शामिल किया गया और अंततः शेरी की जीत हुई।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close