गंगा से मिलेगा बिहार के चार जिलों को पीने का पानी

बिहार में जल्दी ही विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं बिहार सरकार अपनी सभी योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचाने का प्रयास कर रही है। बिहार सरकार अपनी महत्वकांक्षी परियोजना जल जीवन हरियाली को लेकर भी काम शुरू कर दिया है।

बिहार के चार जिला के लोगों को जल्द ही पीने के लिए गंगाजल  की सुविधा उपलब्ध कराने की योजना पर राज्य सरकार काम कर रही है। इस बात की जानकारी नीतीश कुमार कैबिनेट में जल संसाधन मंत्री संजय झा ने दी है। उन्होंने कहा कि गया, नालंदा, नवादा, राजगीर में लोगों पीने के लिए गंगाजल मिलेगा। संजय झा ने कहा कि गंगा के पानी को पीने लायक बनाकर इन चार जिला के लोगों के घरों तक पहुंचाया जाएगा। नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी परियोजना जल-जीवन-हरियाली के तहत इस इन चार जिलों में घर-घर पाइप लाइन के जरिए गंगा का पानी पहुंचाने की कवायद चल रही है।

बिहार में इस तरह की यह पहली योजना है। संयज झा ने इसे दक्षिण बिहार के लिए बिहार सरकार की सौगात बताया है। साथ ही उन्होंने मिथिला को बाढ़ से बचाने के लिए सरकार की नई पहल के बारे में भी बताया। बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री ने कहा कि सरकार बांधों पर सड़क बनाने जा रही है। साथ ही पुलों को भी ठीक किया जायेगा, जिससे कि पानी का निकासी में कोई दिक्कत नहीं होगी। साथ ही पुरानी नदियों का जीर्णोद्धार किया जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जल्द ही मधुबनी का दौरा करेंगे।

क्या है जल-जीवन-हरियाली अभियान

गाँधी जयंती की 150वीं वर्षगांठ पर बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने जल-जीवन-हरियाली अभियान  की शुरुआत की थी। सरकार ने मौसम में आ रहे बदलाव को देखते हुए राज्य में जल-जीवन-हरियाली योजना को बनाया है। राजस्व और भूमि सुधार विभाग राज्य के सभी सार्वजनिक जल निकायों जैसे तालाबों, आहर-पाइन और कुओं की पहचान करके उनकी पूरी रिपोर्ट ड्रोन या हेलीकॉप्टर के माध्यम से तैयार करेगें।

संजय झा के बयान पर राष्ट्रीय जनता दल आरजेडी ने भी पलटवार किया है। आरजेडी प्रवक्ता मृत्यंजय तिवारी ने कहा कि चुनाव नजदीक आ रहा है तो सरकार नई-नई घोषणाएं कर रही है। पहले जो घोषणाएं हुई, उन्हें अभी तक धरातल पर नहीं उतरा गया है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close