आबकारी टीम पर मिलावटी शराब कारोबारियों ने बोला हमला

जिले के नेपाल सीमा से सटे बलई गांव में आबकारी विभाग और पुलिस की नाकामी का बड़ा मामला सामने आया है। मोतीपुर थाना क्षेत्र के इस बलई गांव में नकली और नेपाली शराब का कारोबार कमोबेश कुटीर उद्योग की तरह घर-घर फल फूल गया। प्रदेश सरकार की सख्ती के बाद जब अफसरों ने कार्रवाई की तो ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा।  पहले संरक्षण देने वाले आबकारी विभाग की टीम पर कार्रवाई से नाराज ग्रामीणों ने हमला कर कई सरकारी गाड़ियों को तोड़ डाला। पुलिस ने अवैध शराब के व्यापार में संलिप्त 9 लोगों के खिलाफ एक्साइज ऐक्ट की धाराओं में केस दर्ज कर जेल रवाना कर दिया।

हर घर में दिखा नकली शराब का कारोबार

बाराबंकी जिले के रामनगर तहसील क्षेत्र में जब नकली शराब पीने से मौतों की संख्या बढ़ गई, तो प्रदेश सरकार की कार्यशैली को कटघरे में खड़ा किया जाने लगा। सरकार की सख्ती के बाद जब जिले के अफसरों पर कार्रवाई का दबाव बढ़ा तो आबकारी विभाग के अफसर कार्रवाई के लिए बलई गांव पहुंचे। वहां से जो सच बाहर आया वह काफी चैंकाने वाला है। इस गांव में नकली और नेपाली शराब बेचने का व्यापार कमोबेश हर घरों में देखने को मिला। 40 घरों की तलाशी ली गई, जिसमें 35 अवैध शराब की भट्टियां चलती पाई गईं। लगभग 10 हजार लीटर लहन को नष्ट कराया गया।

गुस्साए ग्रामीण

ग्रामीण इस कार्रवाई पर भड़क गए। गुस्से में आकर आबकारी टीम पर हमलावर हो गए। बचाव में आए आबकारी अफसरों ने अतिरिक्त पुलिस बल मंगाकर कड़ी कार्रवाई की। तलाशी के दौरान घरों में रखे फ्रिज से नकली और नेपाली शराब बरामद की गई। कार्रवाई में 7 बोरियों में 510 शीशी नेपाली कर्णाली शराब, 4 बीयर, 11 पिपिया में 150 लीटर कच्ची शराब बरामद हुई। एसएचओ मोतीपुर मनोज मिश्रा ने बताया कि बलई गांव निवासी बादल थारू, सागर, रमेशचंद्र, गंगा, समझाना, बेलास, अनीता, देवरानी और मेढकिया निवासी प्यारे लाल समेत अन्य के खिलाफ एक्साइज ऐक्ट के तहत केस दर्ज कर जेल रवाना कर दिया गया।

सांसद से दर्ज कराया विरोध, बाजार रहे बंद मिहीपुरवा

बलई गांव के लोगों ने भाजपा सांसद अक्षयबर लाल गोंड को शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया कि आबकारी व पुलिस टीम ने अवैध शराब बनाने के नाम पर लोगों के घरों में घुसकर सामानों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। महिलाओं से अभद्रता की। ग्रामीणों ने मामले में कार्रवाई की मांग की है। आबकारी व पुलिस टीम की छापामारी के विरोध में रविवार को बलई गांव में बाजार बंद रहे।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close