बच्ची को दूध की बोतल में शराब पिला देता था बाप

शराब कभी कभी आदमी को रिश्तों की लाज करने से भी रोक देती है। तीन साल की बच्ची को खाना खिलाने या दूध पिलाने के बजाए उसका बाप उसे शराब पिला देता था। शराबी पिता बच्ची को दूध की बोतल में शराब भरकर दे देता था। भूख से बिलबिलाती बच्ची उसे पीते ही बेहोश होकर सो जाती थी। जागती थी फिर रोने लगती थी, रोते देख उसका बाप फिर से उसे शराब पिला देता था।

दिल्ली महिला आयोग की हेल्पलाइन 181 पर 15 अप्रैल को दिल्ली के प्रेम नगर इलाके से एक कॉल आई। कॉल करने वाले ने महिला आयोग को बताया कि एक बच्ची ने पिछले तीन दिनों से कुछ नहीं खाया है।

यह भी पढ़ें – अपने देश में अलग अलग हैं शराब पीने के कानून

शिकायत मिलने के बाद महिला आयोग की टीम मौके पर पहुंची। टीम ने देखा कि बच्ची फर्श पर पड़ी हुई है। उसके आसपास गंदगी फैली हुई थी। बच्ची का पिता भी उसी कमरे में सो रहा था। उसके आसपास शराब की खाली बोतलें पड़ी थीं। पड़ोसियों का कहना है कि शराबी पिता दिन भर शराब पीकर लेटा रहता है। भूख और प्यास की वजह से बच्ची जोर जोर से रोती थी तब भी वह नहीं जगता था।

पड़ोसियों ने बताया कि बच्ची की माँ का एक साल पहले देहान्त हो गया। पिता रिक्शा चलाता है। जब वह काम पर जाता तो बच्ची को कमरे में अकेले छोड़ देता था। पड़ोसियों को भी कमरे में नहीं घुसने देता था। पड़ोसियों का कहना है उन्होंने पिता को दूध की बोतल में बच्ची को शराब पिलाते देखा। हमें नहीं पता कि वह बच्ची को कब और कैसे खाना खिलाता था।

यह भी पढ़ें –  लो जी…. अंतरिक्ष में भी पहुंचा दी गई शराब !

महिला आयोग की टीम जब बच्ची को अस्पताल ले जा रही थी तो पिता ने विरोध किया। वह हिंसा पर उतर आया। इसके बाद महिला आयोग को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस के आने के बाद बच्ची को अस्पताल पहुंचाया गया। बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने पाया कि बच्ची के प्राइवेट पार्ट में गंदे डायपर की वजह से इंफेक्शन था। बच्ची अभी अस्पताल में है। उसका इलाज चल रहा है। पूरी तरह से ठीक हो जाने के बाद उसे शेल्टर होम में शिफ्ट किया जाएगा।

दिल्ली महिला आयोग की मीडिया सेल देख रहीं सपना ने बताया कि बच्ची के पिता के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। शराबी पिता के खिलाफ महिला आयोग एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी कर रहा है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close