अल्कोहल टेस्ट में फेल हुआ ऑपरेशनल चीफ

अल्कोहल टेस्ट में फेल होने के बाद एयर इंडिया ने अपने ऑपरेशनल चीफ को विमान उड़ाने से रोक दिया। कैप्टन एके कथपालिया रविवार को  दिल्ली से लंदन जाने वाली फ्लाइट के पायलट थे। यह दूसरा मौका है, जब कथपालिया टेस्ट में फेल हुए। इससे पहले जनवरी, 2017 में ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट में फेल होने के बाद नगर विमानन महानिदेशालय ने उनका लाइसेंस तीन महीने के लिए रद्द कर दिया था।

ये भी पढें :-वल्र्ड कप में बोल्ड, इतनी पी कि समुद्र तट पर पड़े मिले

दूसरा पायलट भेजा गया

  1. एयर इंडिया के अफसर के मुताबिक, कथपालिया को AI-111 विमान नई दिल्ली से लंदन लेकर जाना था। ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट में दो बार फेल होने के बाद उन्हें विमान उड़ाने के लिए उपयुक्त घोषित नहीं किया गया। उनकी जगह दूसरे पायलट को भेजा गया। इसके चलते उड़ान 55 मिनट लेट हो गई।
  2. एयरक्राफ्ट नियम 24 के मुताबिक, यदि पायलट और क्रू मेंबर्स उड़ान के 12 घंटे पहले अल्कोहल लेता है तो यह नियमों का उल्लंघन माना जाता है। उड़ाने के पहले सभी पायलट और क्रू मेंबर का अल्कोहल टेस्ट भी होता है, जिसे पास करना अनिवार्य होता है।
  3. डीजीसीए के नियमों के मुताबिक, पायलट यदि पहली बार अल्कोहल टेस्ट में फेल होता है तो उसका लाइसेंस तीन महीने के लिए रद्द कर दिया जाता है। वहीं, दूसरी बार फेल होने पर तीन साल के लिए और तीसरी बार फेल होने पर लाइसेंस हमेशा के लिए रद्द हो जाता है।
  4. कथपालिया को एयरइंडिया ने पांच साल के लिए ऑपरेशनल चीफ के पद पर नियुक्त किया है। एयरलाइंस के अफसर के मुताबिक, उनके लाइसेंस पर सोमवार तक फैसला हो सकता है।

ये भी पढें :- तलब बुझाने स्टेज छोड़ पीने चले गए भीमसेन जोशी

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close