जेनिफर, शर्त और शराब

जेनिफर ने दो शर्तें रखीं, घर में मांसाहर नहीं होगा, न शराब पी जाएगी और न धूम्रपान किया जाएगा।

आज वेटरन फिल्म अभिनेता शशि कपूर  की पत्नी औऱ रंगमंच कर्मी जेनिफर कैंडल की पुण्यतिथि  है। जेनिफर कपूर खानदान की इकलौती विदेशी बहू होने के साथ साथ थिएटर की बेमिसाल अदाकारा थी। जेनिफर उम्र में शशि कपूर से तीन साल बड़ी थी लेकिन कोलकाता में जब वो एक थिएटर के दौरान शशि कपूर से मिली तो उन दोनों के बीच प्रेम परवान चढ़ा।

कुछ मुलाकातों में दोनों एक दूसरे के लिए प्रतिबद्ध हो गए। लेकिन शर्मीले शशि कपूर को देखकर एक समय जेनिफर उन्हें गे समझने लगी थी। शशि कपूर ने खुद अपनी किताब पृथ्वीवालाज में लिखा है कि चूंकि जेनिफर पश्चिमी सभ्यता से थी और इस लिहाज से सबसे हाथ मिलाकर, गले लगकर बातें करती थी, मैं इस तरह के व्यवहार से शर्माता था..वो मुझे गे समझने लगी थी। लेकिन बाद में उसे अहसास हुआ कि भारतीय सभ्यता में ये सब कम चलता है।

जेनिफर का जन्म 28 फरवरी को यूनाइटेड किंगडम के साउथपोर्ट में हुआ था।  जेनिफर से शशि 1956 में कोलकाता में मिले थे।  उस समय शशि अपने पिता के थिएटर ग्रुप पृथ्वी थिएटर में एक्टर और स्टेज मैनेजर थे।  उस दौरान कोलकाता में गोफरे केंडल का शेक्सपियरन ग्रुप भी वहीं था।  जेनिफर उनकी ही बेटी थीं।  जेनिफर रोज आकर उनका प्ले देखा करती थीं।  जेनिफर को देखते शशि कपूर को उनसे प्यार हो गया था।  शशि कपूर ने कजिन के माध्यम से जेनिफर से मीटिंग फिक्स की।  इसके बाद दोनों मिले और अच्छे दोस्त बन गए।  कुछ मुलाकातों के बाद दोनों का प्यार परवान चढ़ा और 20 साल की उम्र में ही उन्होंने खुद से तीन साल बड़ी जेनिफर से शादी कर ली।  कपूर खानदान में इस तरह की यह पहली शादी थी।

दोनों ने जब अपने इस रिश्ते के बारे में परिवार वालों को बताया तो वह खिलाफ हो गए।  जब जेनिफर के पिता नहीं माने तो जेनिफर ने अपने पापा का थिएटर ग्रुप छोड़ दिया था।  ऐसे में कपूर परिवार भी नहीं चाहता था कि शशि कपूर, जेनिफर से शादी करे।  हालांकि उस समय शशि को बस अपनी भाभी गीता बाली का सपोर्ट मिला था।

शेक्सपीयर के नाट्य मंचन के दौरान दोनों में हुआ प्यार

इंग्लैंड की कैंडल फैमेली शेक्सपियर के नाटक मंचित करते थे। पृथ्वीराज कपूर ने भारत में नाटकों के मंचन के लिए शशि कपूर को साथ भेजा। नायक की भूमिका उन्होंने निभाई और नायिका जेनिफर थीं। नाटक के दरमियान प्रेम हुआ और उन्होंने तीन वर्ष बड़ी जेनिफर से शादी करने का फैसला किया। जेनिफर ने दो शर्तें रखीं, घर में मांसाहर नहीं होगा, न शराब पी जाएगी और न धूम्रपान किया जाएगा। जब तक जैनिफर जीवित रहीं तब तक उस घर में ये काम नहीं हुए। जब शशि को तलब लगती तो वे घर के बाहर जाकर धूम्रपान करते।

1982 में कैंसर के चलते कैंडल का निधन हो गया। उस समय शशि कपूर टूट गए थे क्योंकि वो भावनात्मक रूप से कैंडल से इतना जुड़ चुके थे कि उन्होंने सार्वजनिक कार्यक्रमों में शिरकत करना छोड़ दिया।

चीयर्स डाॅट काॅम की ओर से आज 07 सितम्बर 2019 थिएटर की बेमिसाल अदाकारा कोजेनिफर कैंडल को उनकी 37 वीं पुण्य तिथि पर भावभीनी ऋद्धांजलि।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close