होली पर शराब खरीदते समय सतर्क रहें

चीयर्स डाॅट काॅम के पाठकों को होली की बधाईयां और शुभकामनाएं, चीयर्स डाॅट काॅम की अपने पाठकों और शुभचिंतकों से रंगों के पर्व  होली पर ये अपील है कि नकली शराब के सेवन से बचने का प्रयास करें। अभी हाल में ही कानपुर में कथित रूप से जहरीली शराब पीने से करीब लगभग 10 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले फरवरी माह में असम और यूपी में भी जहरीली शराब से 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।
चीयर्स डाॅट काॅम की भी सूचना है और विभिन्न मीडिया सूत्रों के हवाले से भी प्रकाशित हुआ था कि कानपुर में देशी शराब के कुछ ठेकों पर जो शराब बिक रही थी, वही घटिया, निम्न स्तरीय या जहरीली थी, अवैध तो थी ही। इसी प्रकार पश्चिमी यूपी और देश के अन्य कई स्थानों से यह भी सूचना आती रहती है कि कुछ लाइसेंसी अंग्रेजी दुकानों पर भी नकली शराब की बिक्री की जाती है।

फिलहाल जो स्थिति है, उसमें चुनाव और होली के मेल ने शराब माफियाओं की चांदी कर दी है। जो कमी थी वह मार्च ने पूरी कर दी है। क्लोजिंग के कारण ठेकों पर शराब नहीं मिल रही है और पसंदीदा ब्रांड की शराब के तो लाले पड़े हुए हैं। जैसे के लखनऊ में सीग्राॅम कंपनी के ब्रांड की कमी हर तरफ दिख रही है। शराब उपभोक्ता परेशान हैं और आबकारी विभाग को हमेशा की तरह इससे कोई फर्क ही नहीं पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें –

इन हालात में शराब माफियाओं का ज्यादा लाभ कमाने का लालच अपने उफान पर होता है। इस बार भी है। शराब मफियाओं ने शराब की बढती मांग को देखते हुए नकली शराब का उत्पादन बढ़ा कर उसे मार्केट में उतार दिया है। यूपी में शराब अन्य राज्यों के मुकाबले मंहगी है। जिसका फायदा यह शराब माफिया उठाते हैं। यूपी में देशी शराब की एक बोतल 50 से 60 रूपये के बीच मे मिलती है, वहीं कच्ची शराब उन्हें सिर्फ 20 से 30 रूपयें मे मिल जाती है।

चीयर्स डाॅट काॅम की शराब उपभोक्ताओं से अपील है कि शराब खरीदते वक्त उसकी क्वालिटी पर जरूर ध्यान दें। यह भी अपील है कि शराब की लाइसेंसी दुकानों से ही शराब खरीदें और उसकी सील जरूर चेक कर लें। किसी प्रकार की समस्या आने पर यूपी के आबकारी विभाग के मोबाइल फोन नंबर 9554482300  पर संपर्क  करने की कोशिश करें। आबकारी विभाग से यदि कोई सहायता नहीं मिलती है, और शराब की बिक्री तथा खरीद में जो भी समस्याएं आती हैं, उन्हें चीयर्स डाॅट काॅम की ईमेल आईडी info@cheerrss.com पर अवश्य भेजें।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close