सचित्र वैधानिक चेतावनी, शराब की बोतल पर भी !

सिगरेट के पैकेट की तर्ज पर शराब की बोतलों पर भी पहली अप्रैल से शराब से होने वाले नुकसान का जिन्न छपा होगा। ये जिन्न शराब से होने वाले नुकसान की वैधानिक चेतावनी के रूप में पेश किया जा रहा है। जबकि सरकार ने शराब को खाद्य पदार्थ की श्रेणी में रखा है। फूड सेफ्टी स्टेंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया ने एल्कोहल का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, चेतावनी को चित्र के साथ एक अप्रैल 2019 से लिखना अनिवार्य कर दिया है। एफएसएसएआई के सलाहकार (रेग्यूलेशन) सुनील बख्शी ने बताया कि इस संबंध में गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। देश के सभी राज्यों के फूड सेफ्टी कमीश्नर को एक्साइड डिपार्टमेंट के साथ मिलकर बोतलों की लेबलिंग में चेतावनी को अनिवार्य रुप से लिखने के लिए कहा गया है। बोतल पर चेतावनी का साइज कम से कम तीन एमएम का होगा। ऐसा नहीं करने वालों पर नियमानुसार कार्यवाही होगी।

यह भी पढ़ें- शराब कंपनियों के सोडा पानी विज्ञापन भी बंद

उल्लेखनीय है कि गैर सरकारी संगठन कम्यूनिटी अगेंस्ट ड्रंकन ड्राइविंग ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर शराब की बोतलों पर ड्रंक ड्राइविंग को सचित्र चेतावनी करने की मांग की थी।

देशभर में एल्कोहल का एकसमान स्टेंडर्ड

एफएसएसएआई ने अंग्रेजी की जगह हिन्दी या स्थानीय भाषा में चेतावनी लिखने की अनुमति दी है। साथ ही जिन राज्यों में शराब की बोतल पर पहले से चेतावनी लिखी जा रही है, उन्हें पैरामीटर के मुताबिक वैधानिक चेतावनी लिखनी पड़ेगी। जानकारों का कहना है कि दरअसल, फूड सेफ्टी एक्ट के तहत शराब को फूड कैटेगरी में रखा है, लेकिन पहले किसी तरह के मानक नहीं बने हुए थे।

यह भी पढ़ें-’ओल्ड टाॅम’ के तीन पैग रोज़ पीते थे चचा ग़ालिब

पहली बार केन्द्र सरकार ने फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड (एल्कोहलिक बेवरेज स्टेंडर्ड) रेग्यूलेशन-2018) बनाए है। जिसके तहत पूरे देश में एल्कोहल के एकसमान स्टेंडर्ड होंगे। स्टेंडर्ड के मुताबिक बीयर (नियमित) में पांच  फीसदी एल्कोहल, बीयर (स्ट्रांग) में पांच से आठ, व्हिस्की में 36 से 50 और वाइन (रेड एंड व्हाइट) तय किए है।

लाख लोगों की मौत नशे में गाड़ी चलाने से

देश में हर साल लगभग एक लाख 46 हजार लोग अपनी जान सड़क दुर्घटना में गंवाते है। इसमें से एक लाख लोगों की मौत शराब पीकर गाड़ी चलाने से होती है। इसलिए केन्द्र सरकार ने होने वाली मौत पर नियंत्रण करने के लिए शराब की बोतलों पर स्वास्थ्य चेतावनी लिखने का निर्णय लिया गया।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close