शराब में मिलावट की तो जाना होगा जेल

यूपी सरकार ने शराब में मिलावट और उससे होने वाली  मौतों को रोकने के लिए कड़ा रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में इस सम्बन्ध में फैसला लिया गया।  यूपी  सरकार के प्रवक्ता व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि आबकारी नीति 2019-20 के कुछ प्रावधानों के कारण कई तरह की विसंगतियां पैदा हो रही थीं। इसके चलते कुछ सुसंगत संशोधनों को मंजूरी दी गयी है। इनमें मदिरा में अपमिशण्रऔर ओवर रेटिंग को खासतौर पर तरजीह दी गयी है। प्रमुख सचिव आबकारी संजय भूसरेड्डी ने बताया कि आबकारी नीति के पांच प्रावधानों में संशोधन किये गये हैं। उन्होंने बताया कि पूर्व में शराब में जल मिशण्रया फिर केमिकल की मिलावट करने के मामले में पहली बार पकड़े जाने पर 40 हजार, दूसरी बार Rs 50 हजार जुर्माना और तीसरी बार लाइसेंस रद्द करने का प्रावधान था, लेकिन अब संशोधन के बाद जुर्माने को खत्म कर सीधे लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

मिलावट के मामले में हुए संशोधन के बाद सीआरपीसी की धारा 272 व 273 के साथ आईपीसी की धारा 304 को भी जोड़ा गया है। इसके तहत मिलावट के आरोपित पर गैंगस्टर एक्ट व एनएसए की कार्रवाई भी होगी और एनएसए लगा, तो तीन वर्ष तक जेल काटनी होगी। इसके साथ ही मिलावटी शराब की बिक्री से अर्जित की गयी सम्पत्ति को भी सरकार जब्त कर लेगी। इसी तरह मदिरा की ओवर रेटिंग पर सख्त रुख अपनाते हुए पहली गड़बड़ी पर 75 हजार व दूसरी पर Rs डेढ़ लाख का जुर्माना लगाने के साथ तीसरी शिकायत पर लाइसेंस निरस्त होगा।

यह व्यवस्था होल सेलर से लेकर रिटेलर तक पर लागू होगी। आबकारी नीति में एक अन्य संशोधन के तहत दुकान आवंटी को सिक्योरिटी डिपाजिट में अब राष्ट्रीय बचत पत्र के साथ ई पेमेंट और एफडीआर के विकल्पों को भी मंजूरी दी गयी है। इसके साथ ही शराब की आपूत्तर्ि व बिक्री के तय लक्ष्य को पूरा करने वाले होलसेल व रिटेलर को अब कम मात्रा पर ही जुर्माना लगेगा। एक अन्य संशोधन में होटलों व अन्य जगहों पर मदिरा के महंगे ब्रांड को एक साथ बेचने के लिए मोनो कास्ट को मंजूरी दी गयी है। इसमें Rs चार हजार से अधिक की महंगी मदिरा के कई ब्रांड को एक साथ रखकर बेचा जा सकेगा। इसके साथ ही 5-50 लीटर की मात्रा में बदलाव कर अब 20, 30 व 50 लीटर की कास्ट तक रखने की छूट रहेगी। इसका लक्ष्य पीने के शौकीनों को मनपसंद ब्रांड उपलब्ध कराना है, ताकि ज्यादा राजस्व अर्जित किया जा सके।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close