शराब फैक्ट्री पर नेताओं की बयानबाजी जारी

उत्तराखंड के देवप्रयाग (डडुवा भंडाली) क्षेत्र में शराब फैक्ट्री को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूड़ी के बयान का पूर्व काबीना मंत्री दिवाकर भट्ट व प्रसाद नैथानी ने पूरा समर्थन करते हुए इसका स्वागत किया है। हालांकि दोनों के शराब फैक्ट्री को लेकर बयान अपनी-अपनी तर्ज पर दिये गए हैं। दोनों काबीना मंत्रियों ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री मेज (सेनि) बीसी खंडूड़ी ने हाल ही में देवप्रयाग क्षेत्र में लगी शराब फैक्ट्री को देवभूमि के लिए शर्मनाक बताते हुए कहा था कि शराब से कमाई करना आत्महत्या के समान है।

पूर्व मुख्यमंत्री खंडूड़ी के इस बयान का पूर्व मंत्री दिवाकर भट्ट व मंत्री प्रसाद नैथानी स्वागत करते हुए कहा कि शराब की फैक्ट्री देवभूमि में ठीक नहीं है। पूर्व काबीना मंत्री दिवाकर भट्ट ने क्षेत्र में लगी शराब फैक्ट्री पर कहा कि राज्य में जब शराब से ही कमाई की जानी है, तो कच्ची शराब बनाने वालों को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। साथ ही प्रदेश में सरकार को कैसिनो भी खोल देने चाहिए। इनकी कमीशन से ही खासी कमाई हो सकती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ही यहाँ फैक्ट्री बनवाने की शुरुआत की थी। भाजपा कह रही है कि कांग्रेस के अधूरे कामों को ही वह आगे बढ़ा रही है। यानि दोनों ही दल इस मामले में देवभूमि की जनता को बेवकूफ बनाने का काम कर रहे हैं।

उधर पूर्व शिक्षा मंत्री प्रसाद नैथानी ने पूर्व सासंद खंडूड़ी के बयान की तो सराहना की मगर पूर्व मंत्री  दिवाकर भट्ट की इस मामले में कही बात को पूरी तरह से खारिज कर दिया। पूर्व मंत्री नैथानी ने कहा कि उन्होंने डडुवा भंडाली के जन प्रतिनिधियों द्वारा  शराब फैक्ट्री का विरोध किये जाने पर तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत से उनकी भेंट करवायी थी। अपनी विधानसभा के शराब फैक्ट्री का लाइसेन्स निरस्त करने के लिये उन्होंने पूरा प्रयास किया था। चुनाव आचार संहिता लगने पर यह काम अधर में ही रह गया। उनके प्रयासों से कांग्रेस भी शराब फैक्ट्री का लाइसेंस रद्द करने के पूरे पक्ष में आ गयी थी। भाजपा ने शराब फैक्ट्री के लाइसेंस को रिन्यू करवाकर इसे अब पूरी तरह खुलवा दिया है। पूर्व मंत्री नैथानी ने कहा देवप्रयाग ही नहीं प्रदेश में कहीं भी शराब की फैक्ट्री नहीं खुलने दी जायेगी।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close