पीकर चलाई गाड़ी तो होगी जब्त

यूपी के सीएम ने बुधवार को अपने आवास पर सड़क सुरक्षा जागरूकता के लिए आयोजित रैली को हरी झंडी दिखाने के साथ ही पुलिस और परिवहन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा नशे की हालत में जो भी वाहन चलाते मिले उसका वाहन जब्त करें, थोड़ी सी जागरुकता और सख्ती से सड़क हादसे रोके जा सकते हैं। ट्रैफिक पुलिस वाहनों की जांच के नाम पर चौराहों पर आतंक न फैलाए, बल्कि वाहन चालकों को जागरूक करना भी उनकी जिम्मेदारी है।

सीएम ने कहा कि स्कूली बच्चों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करें, जिससे उनमें शुरू से ही यातायात नियमों का पालन करने की आदत पड़ सके। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग के प्रयास सार्थक होने के बावजूद अभी बहुत कुछ करना बाकी है। हम सभी को दो पहिया वाहन चलाते समय हेल्मेट और चौपहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट पहनने की आदत डालनी चाहिए। नशे की हालत में कतई ड्राइविंग न करें। सड़क सुरक्षा अभियान तभी सफल होगा जब उसमें आमजन की सहभागिता होगी। सड़क सुरक्षा के अच्छे स्लोगनों के साथ अगर हम आगे बढ़े तो परिणाम और बेहतर हो सकते हैं। इसके बाद उन्होंने 100 बाइकर्स व 25 पुलिसकर्मियों की रैली को हरी झंडी दिखाई। सीएम ने  10 विंटेज कार, 100 एनसीसी के कैडेट्स, विभिन्न स्कूलों के 700 छात्र-छात्राओं की रैली को भी रवाना किया।

पाठ्यक्रम में हो यातायात शिक्षा का समावेश : सीएम ने कहा कि शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी है कि वह स्कूलों के पाठ्यक्रम में यातायात शिक्षा को भी शामिल करें। स्वास्थ्य विभाग एक्सिडेंट के घायलों को अच्छा इलाज दें। कम समय में ऐम्बुलेंस पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंनेे कहा कि इन हालातों में नए ट्रॉमा सेंटर्स की स्थापना भी होनी चाहिए।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close