शराब दुकानों के कर्मचारियों को अब पहननी होगी यूनिफार्म

छत्तीसगढ़ में आने वाले समय में शराब दुकानों के कर्मचारी वर्दी में नजर आएंगे, ताकि ओवररेटिंग और आए दिन अभद्रता पर लगाम लगाई जा सके। इसके लिए छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के प्रबंध संचालक ने सभी जिलों के आबकारी उपायुक्तों को पत्र लिख कर कहा है कि प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से शराब दुकानों में नियुक्त समस्त सुपरवाइजर एवं सेल्समैन को वर्दी में ड्यूटी करनी होगी। उनके नाम का बैच तथा सीएसएमसीएल मोनो उनकी वर्दी में अनिवार्य रूप से लगाने के निर्देश दिए गए हैं। दुकान में बैठने वाले सुपरवाइजर या सेल्समैन बिना वर्दी के पाए जाते हैं तो प्लेसमेंट एजेंसी पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पत्र में शराब दुकानों में नियुक्त सुपरवाइजर तथा सेल्समैन की आईडी रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। हालांकि इस तरह का पत्र उन्होंने दो माह पहले भी लिखा था लेकिन अमल में नहीं लाया जा सका।

खुलेआम ओवर रेटिंग 

छत्तीसगढ़ की शराब दुकानों में ओवर रेटिंग पर प्रभावी नियंत्रण की बात आबकारी विभाग कर रहा है। इसके लिए आबकारी उपायुक्त तथा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा फुटकर शराब दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण करने का निर्देश आयुक्त ने दिए थे। इसके बाद भी शहर की शराब दुकानों में खुलेआम ओवर रेटिंग की जा रही है।

बढ़ने चाहिए काउंटर

शराब दुकानों में सेल्स काउंटर्स की संख्या बढ़ाने के निर्देश पर भी अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि यदि काउंटर बढ़ जाएंगे तो फिर ओवर रेटिंग नहीं हो पाएगी। जबकि आदेश यह है कि जितनी संख्या में सेल्समैन नियुक्त किए गए हैं, उतनी संख्या में विक्रय काउंटर होने चाहिए।

छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड के प्रबंध संचालक एपी त्रिपाठी ने बताया कि यूनिफार्म (वर्दी) में शराब दुकानों के कर्मचारियों को रहने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके अलावा ओवर रेटिंग रोकने के लिए कई प्रभावी योजना बनाई जा रही हैं।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close