यौन क्षमता बढ़ता है ये जूस, खून की कमी भी होती है दूर

शतावरी एक चमत्कारी औषधि है जिसका उपयोग आयुर्वेद में कई रोगों के इलाज में किया जाता है। आमतौर पर इसका चूर्ण इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यह पूरी जड़ी बूटी ही बहुत काम की है। इसे शतावर के नाम से जाना जाता है। अन्य भाषा, जैसे संस्कृत में इसे शतमूली और अंग्रेजी में  Asparagus के नाम से भी जाना जाता है।

शतावरी कई तरह की बीमारियों के लिए आयुर्वेदिक औषधि के तौर पर इस्तेमाल की जाती है जिसमें मुख्यतः मोटापा, गर्भावस्था की परेशानियां, क‍िडनी रोग, यूटीआई, कैंसर, नींद न आना, सिरदर्द, खांसी आदि शामिल हैं। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि यह जड़ी बूटी पुरुषों के हार्मोन लेवल को बढ़ा कर उनकी कामुकता में भी इजाफा करती है। यह पौधा यह एक झाड़ीनुमा पौधा होता है, जिसमें फूल व मंजरियां एक से दो इंच लम्बे एक या गुच्छे में लगे होते हैं। अध्ययनों के अनुसार, इस सब्जी के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। शतावरी का जूस पीने से आपको डायबिटीज  कंट्रोल करने और अवसाद से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। चलिए जानते हैं इससे आपको क्या-क्या फायदे होते हैं।

शतावरी का जूस पीने  के फायदे 

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, शतावरी का जूस पीने से इंसुलिन के स्राव में सुधार लाने में मदद मिलती है और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम होता है। एंटीऑक्सीडेंट, फ़्लवोनोइड्स और इन्फ्लैमटोरी तत्त्वों से भरपूर शतावरी का ह्यूमन कोलोन कार्सिनोमा सेल्स पर एंटीकैंसर प्रभाव पड़ता है  यह एक नेचुरल मूत्रवर्धक है, जिसका मतलब है कि ये पेशाब बढ़ाती है और लीवर को साफ करने में मदद करती है। शतावरी एक  टीडिप्रेसन्ट के रूप में काम करती है।

जर्नल न्यूरोसाइंस में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, शतावरी का जूस पीने से अवसाद को रोकने में मदद मिलती है। शतावरी में भरपूर मात्रा में पानी और फाइबर होते हैं, जिस वजह से ये सब्जी पाचन में सुधार करने और आपको कब्ज जैसी गंभीर समस्या से बचाने में सहायक है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close