यूपी में एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़

यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में पुलिस ने विभिन्न ब्रांड की नकली शराब सप्लाई करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने इस गिरोह के 12 लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अवैध शराब, 25 लाख रैपर, 30 लाख ढक्कन, होलोग्राम, चार चौपहिया वाहन व एक दो पहिया वाहन बरामद किया गया है। कुल बरामद सामान की कीमत करीब एक करोड़ रुपये बताई गई है। पकड़े गए शराब तस्कर उत्तर प्रदेश के अलावा हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, पंजाब व अन्य राज्यों में सक्रिय थे।

देशभर में करीब 50 जिलों में यह गिरोह लाइसेंसी दुकानों पर नकली शराब सप्लाई कर रहा था। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने पुलिस टीम को एक लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता में एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि काफी समय से जिले में नकली शराब बनाने और उसे शराब की लाइसेंसी दुकानों पर बेचे जाने की सूचनाएं मिल रहीं थीं। जांच के बाद पुलिस ने शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कृष्णापुरी निवासी अमित पुत्र इंद्रपाल को गिरफ्तार किया गया।

उससे पूछताछ के बाद कई जगह दबिश देकर जितेंद्र उर्फ डॉक्टर, और अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके अलावा चमनपाल उर्फ सागर निवासी अशोक नगर, शाहदरा और राकेश उर्फ कल्लू निवासी जनपद बागपत अभी फरार हैं। जितेंद्र उर्फ डॉक्टर मुजफ्फरनगर जिले के करीब 17 शराब के ठेकों में पार्टनर है। अमित के मकान की जांच में एक तहखाना मिला, जहाँ  बड़े पैमाने पर नकली शराब बनाई जा रही थी। रैकेट में शामिल अन्य लोगों के साथ ही नकली शराब बेचने वाले ठेका संचालक व सेल्समैन भी चिह्नित किए जा रहे हैं।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close