‘मेक्सिकोक’ का बेजोड़ स्वाद

ये हैरान करने वाली बात है कि कई सालों से, अमेरिकी उपभोग्ताओं ने अपने देश में उत्पादित कोका-कोला का सेवन नहीं किया है, लेकिन इसके इतर मैक्सिकन कोक का आयात जरूर किया, जिसे ‘मेक्सिकोक’ के रूप में जाना जाता है।

1985 के बाद से, यूएस कोक को हाई -फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप के साथ बनाया गया है, जबकि सीमा के दक्षिण में बेचे जाने वाले संस्करण को पारंपरिक गन्ने की चीनी का उपयोग करके उत्पादित किया जाता है, और इसके प्रशंसकों का मानना है कि ये स्वाद में कहीं बेहतर है। अब, हालांकि, उनका प्रिय नुस्खा बदलने वाला है।

पिछले दिनों ,मैक्सिकन सरकार ने जंक फूड पर आठ प्रतिशत कर और शक्कर युक्त पेय पर अतिरिक्त कर लगाने का फैसला लिया है ताकि देश में मोटापे की महामारी का मुकाबला किया जा सके। दो-तिहाई से अधिक आबादी इससे ग्रस्त है ,और मैक्सिकन अमेरिका सहित पृथ्वी पर किसी भी अन्य राष्ट्र की तुलना में प्रति व्यक्ति अधिक सॉफ्ट ड्रिंक का उपभोग करते हैं।

मेक्सिको दुनिया का सबसे बड़े बाजार है जहाँ कैलोरी ड्रिंक पर कर लगाया गया है, और इससे लैटिन अमेरिका के कोका-कोला के सबसे बड़े बॉटलर्स खुश नहीं हैं। कोका-कोला फेमसा और अर्का कॉन्टिनेंटल, दोनों मेक्सिको में स्थित हैं, अनुमान है की इस कर के लगने से तक़रीबन 20000 नौकरियां ख़त्म हो जाएंगी। मेक्सिको के सॉफ्ट ड्रिंक मार्केट में कोका-कोला का 75 प्रतिशत से अधिक नियंत्रण है, और कानून लागू होने के बाद से दोनों बॉटलिंग फर्मों के शेयरों में पांच से 10 प्रतिशत की गिरावट आई है।

परिणामस्वरूप, अरका के अधिकारियों ने क्लासिक मेक्सिकोक रेसिपी को “अधिक फ्रुक्टोज से बनाने का फैसला लिया है, जो गन्ने की चीनी से सस्ता है। क्वार्ट्ज की एक रिपोर्ट के अनुसार, अरका के मुख्य कार्यकारी फ्रांसिस्को गार्ज़ा ने कहा कि बदलाव “बचत का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसे हम अभी देख रहे हैं।”

हालाँकि इसे मूल रूप से 2005 में विशेष रूप से मैक्सिकन प्रवासियों के लिए अमेरिका में आयात किया गया था, मेक्सिकोक अमेरिका में कोक के चाहने वालों के बीच काफी लोकप्रिय है।

हालांकि इसका नुस्खा दुनिया भर में समान है, लेकिन कोका-कोला बॉटलर्स सबसे आसानी से उपलब्ध विकल्प के आधार पर विभिन्न मिठास सामग्री का उपयोग करते हैं। उदाहरण के लिए कोका-कोला फेमेसा, कोलंबिया में चीनी का उपयोग करता है, लेकिन अर्जेंटीना में मकई का सिरप। यूके में, कोका-कोला अभी भी चीनी का उपयोग करता है।

कोका-कोला का अतीत

कोक को पहली बार मॉर्फिन के विकल्प के रूप में अमेरिकी नागरिक जॉन पेम्बर्टन द्वारा अल्कोहॉलिक “कोका वाइन” के रूप में विकसित किया गया था। 1886 में अपने गृह राज्य जॉर्जिया के बाद पेम्बर्टन ने गैर-मादक कोका-कोला बनाया। इसकी दो प्रमुख सामग्री कोका की पत्ती से कोकीन और कोला नट से कैफीन थी।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close