मिलावटी शराब के कारोबार का भंडाफोड़

यूपी में मिलावटी शराब बेचने वालों के हौंसले इतने बुलंद हैं कि वो बिना किसी की परवाह किए  खुलेआम अपना कारोबार चला रहे हैं। गावों की बात तो छोड़िये अब तो शहरों के बीचों बीच इनका कारोबार फल फूल रहा है।

यूपी के बहराइच शहर के धनकुट्टीपुरा मुहल्ले में वर्षों से चल रहे मिलावटी शराब के कारोबार का भंडाफोड़ हुआ है। एसडीएम सदर व सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में गुरुवार को पुलिस व आबकारी टीम ने संयुक्त छापामारी की। इस दौरान 430 लीटर मिलावटी शराब बरामद किया गया। आठ महिलाओं समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जिला आबकारी अधिकारी प्रगल्भ लवानिया ने बताया कि नगर कोतवाली क्षेत्र के धनकुट्टीपुरा मुहल्ले में मिलावटी शराब बेचने की सूचना मिली। एसडीएम सदर कीर्ति प्रकाश व सिटी मजिस्ट्रेट जयप्रकाश के नेतृत्व में सीओ सिटी ने आबकारी टीम के साथ छापा मारा।

 मिलावटी शराब बनाकर बेचने के मामले में मीना पत्नी उमेश, उमेश, कुसुम देवी पत्नी प्रह्लाद, भगुवल, रिंकू, वीरेंद्र, ऊषा देवी, सुभाष, ज्योति पत्नी संतई, वंशो व मोना, लता पत्नी भौरी को गिरफ्तार किया गया। आरोपितों पर आबकारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं अमेठी के तिलोई थानाक्षेत्र के गांव स्थित सुभाषचंद्र उर्फ बबलू जायसवाल के घर से पुलिस ने छापेमारी कर नकली शराब के कारोबार का भंडाफोड़ किया है। कारोबारी के घर से 213 पेटियों में 10044 शीशी, 1862 लीटर शराब, 2600 क्यूआरकोड, 9900 मस्तीह ब्रांड के रेपर, 5600 ढक्कन व 2700 टूटे ढक्कन समेत एक अदद मोबाइल फ़ोन , कार व 1400 रुपये नकद बरामद होने का दावा किया गया है। पकड़े गए कारोबारी के साथी मोनू सिंह निवासी दुसौती थाना महराजगंज जनपद रायबरेली व संजीव जायसवाल निवासी ओदारी थाना फु रसतगंज जनपद अमेठी को जेल भेजा गया है। सीओ ने बताया कि उन्नाव का सरगना भगौती सिंह नकली शराब के कारोबार को संचालित करता है, उसकी तलाश जारी है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close