माही गिल और बियर बाॅर

बालीवुड अदाकारा माही गिल परेशान हैं कि उन्हें लोग सेक्सी या बार गर्ल के रूप में ही देखते हैं। वह कहती हैं कि अगर किसी सेक्सी या बार गर्ल की जरूरत होती है तो उन्हें बुलाया जाता है। उनका कहना है कि अगर कोई वैश्या या शराब हाथ में लिए महिला का रोल है तो भी माही गिल को याद किया जाता है। उनके अनुसार यह सब हुआ है सिर्फ एक दो फिल्मों के कारण। अब ’साहेब, बीवी और गैंगस्टर’ जैसे कई किरदार ही आते हैं लेकिन अब मुझे कुछ नया करना है, एक ही तरह के रोल करते करते थक गई हैं माही गिल।

एक पत्रकार से बातचीत में वह घटना को याद करते हुए बताती हैं कि उनके और उनकी टीम के साथ छेड़छाड़ हुई। हाल ही में एक सीरीज की शूटिंग के दौरान कुछ लोग आए और गुंडागर्दी करने लगे। वह इस हादसे से सदमे में हैं और कहती हैं कि दस साल से मुंबई में शूटिंग कर रही हैं, कभी इससे पहले

ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से मिलीं और पुलिस ने उन गुंडों को जल्दी ही ढूंढ निकाला। इससे उनका आत्मबल बढ़ा। वह कहती हैं कि जिसके साथ ऐसी घटना हो उन्हें सामने आना चाहिए, लोगों को शांत नहीं बैठना चाहिए और आवाज बुलंद करनी चाहिए। माही इस बात से भी मायूस हैं कि जो स्टेटस उनको मिलना चाहिए था, वह अभी तक नहीं मिला।

माही कहती हैं कि लोग मेरे पास एक जैसे रोल लेकर खूब आते हैं। वही बार, शराब और सेक्स, अब बार बार वही सब करना नहीं चाहती हूं। इसलिए कम काम करती हूं। हीरोइन के रूप में कुछ अलग करना है। वह भी चाहती हैं कि उनकी फिल्में भी परिवार के साथ देखी जा सकें, इसलिए ’फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’ फिल्म की। माही बताती हैं कि निर्देशक अनुराग कश्यप की फिल्म ’देव डी’ ने मेरी जिंदगी ही बदल दी, सब कुछ बहुत ही अच्छा चल रहा था। इसी के बाद से डिप्रेशन का शिकार हो गई। लेकिन फिर मुझे तिगंमांशु धुलिया की साहेब बीवी का किरदार मिला। इसके लिए वह धुलिया की बेहद शुक्रगुजार हैं लेकिन इस बात का भी उन्हें दुख है कि उनकी छवि स्टीरियो टाइप हो गई है। उनकी छवि से बियर और बार निकल ही नहीं रहा है। लेकिन वह आशावान हैं, उन्हें पूरी उम्मीद है कि उन्हें एक दिन जरूर अपनी इस छवि से निजात मिलेगी।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close