Trending

बुंदेलखंड के हर घर में 2 साल में पहुंचेगा पाइपलाइन से पानी

केंद्र में जल शक्ति मंत्रालय के गठन के बाद यूपी जल शक्ति विभाग बनाने वाला पहला राज्य बन गया है। जल शक्ति विभाग में नमामि गंगे, सिंचाई, यांत्रिकी, बाढ़ नियंत्रण, लघु सिंचाई, ग्रामीण पेयजल आपूर्ति विभाग शामिल हैं,और लगता है कि मंत्रालय का गठन करते ही यूपी सरकार ने युद्ध स्तर पर जल संकट से निपटने के लिए तैयारी कर ली है।

पानी के संकट से जूझ रहे बुंदेलखंड के हर घर में राज्य सरकार पाइपलाइन से पीने का पानी पहुंचाएगी। जल शक्ति विभाग का कार्यभार संभालने के बाद मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह ने इसकी घोषणा की। डॉ. महेंद्र सिंह ने कहा कि हर घर में पाइपलाइन के जरिए शुद्ध पीने का पानी पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है। इसके लिए राज्य सरकार ने कार्य योजना तैयार कर ली है। बुंदेलखंड के हर घर में पाइप्ड वॉटर पहुंचाने का लक्ष्य दो साल में पूरा किया जाएगा। इस परियोजना पर 9,000 करोड़ रुपये की रकम खर्च होगी।

बुंदेलखंड की तर्ज पर पूर्वांचल और अवध क्षेत्र के अन्य जिलों में भी पाइपलाइन से शुद्ध पानी पहुंचाने की घोषणा मंत्री ने की। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि जो इलाके जेई-एईएस से प्रभावित है और जहां आर्सेनिक और खारा पानी है। इसके अलावा नदियों को साफ करने और नदियों को जोड़ने के काम तेजी लाना विभाग की प्राथमिकता में शामिल है।

ये तो मानना होगा कि अगर ये योजना सही वक़्त पर पूरी होती है, तो इससे प्रदेश के लोगों को जल संकट से काफी राहत मिलेगी। लेकिन अब देखना ये है कि सरकार इस योजना को कितनी जल्दी लोगों तक पहुंचा पाती है ।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close