पेट्रोल-डीजल से नहीं ‘दारू’ से चलेगी कार

बढ़ते प्रदूषण को देखकर इलेक्ट्रिक गाड़ियों को दुनियाभर में बढ़ावा दिया जा रहा है, ताकि पेट्रोल-डीजल की खपत सीमित हो सके। इसके साथ ही दुनिया पलूशन फ्री ट्रांसपोर्ट की ओर आगे बढ़े। इसी बीच इजरायल में इंजीनियरों की टीम ने एक ऐसा रास्ता निकाला है, जो गाड़ी चलाने के लिए पेट्रोल-डीजल की टेंशन को खत्म कर सकता है।

इस टीम ने एक खास इंजन प्रोटोटाइप बनाया है, जो एथनॉल के साथ पानी से चलता है। खास बात यह है कि इस इंजन से चलने वाली गाड़ी कम प्रदूषण करेगी और माइलेज भी ज्यादा मिलेगा। इस इंजन प्रोटोटाइप को मेमान रिसर्च एलएलसी नाम की कंपनी ने डिवेलप किया है। यह एक पारंपरिक पिस्टन इंजन है, जो 70 प्रतिशत पानी और 30 प्रतिशत एथनॉल या किसी अन्य प्रकार के एल्कोहॉल के कॉम्बिनेशन पर चलता है। इस इंजन के लिए डीजल या पेट्रोल की कोई जरूरत नहीं है।

कंपनी का कहना है कि किसी भी कार के इंजन में साधारण मॉडिफिकेशन करके इस पानी-एथनॉल से चलने वाला बनाया जा सकता है। इससे न सिर्फ पेट्रोल-डीजल पर होने वाला खर्च बचेगा, बल्कि पलूशन भी बहुत कम होगा। मेमान रिसर्च ने चार प्रोटोटाइप बनाए हैं, जिनमें एक पूरी तरह फंक्शनल कार, एक पावर जेनरेटर और दो अन्य प्रकार के इंजन शामिल हैं।

ये इंजन पावरफुल परफॉर्मेंस के साथ अच्छी मात्रा में टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम हैं। मेमान का यह इंजन लगभग सभी सल्फर ऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड के उत्सर्जन को समाप्त कर देता है, जो प्रदूषण करने के लिए जाने जाते हैं।कंपनी का दावा है कि पेट्रोल-डीजल सहित किसी भी अन्य एनर्जी सलूशन की तुलना में इस इंजन को चलाने का खर्च बहुत कम है।

इस खास इंजन को बनाने वाली टीम के एक इंजीनियर का कहना है कि मेन स्ट्रीम गाड़ियों में यह इंजन आने में समय लगेगा। उन्होंने कहा कि चूंकि अभी ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने पर फोकस कर रही है।इस इंजन टेक्नॉलाजी को आम लोगों की इस्तेमाल की जाने वाली गाड़ियों में आने में समय लगेगा।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close