पूर्वांचल में पहुंच गई अवैध शराब की खेप !

होली और आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए पूर्वांचल के सभी जिलों में अवैध शराब की भारी खेप पहुंच चुकी है। सूत्रों का दावा है कि अवैध शराब कारोबारियों को पुलिस ने ऐसा करने का मौका भी देे दिया है। इसके साथ ही पूरे पूर्वांचल में कच्ची शराब की भी पर्याप्त आपूर्ति कर दी गई है। इन स्थितियों के बीच तमाम लोगों की होली बदरंग हो जाए तो कोई ताज्जुब नहीं होगा।

आजमगढ़ शहर के मुकेरीगंज मुहल्ले में बीते दिनों पटाखा फैक्ट्री में लगी आग सेे आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई और तीन दर्जन लोग अभी भी विभिन्न अस्पतालों में जीवन व मृत्यु के बीच संघर्ष कर रहे हैं। यह हादसा होने के पहले पुलिस जगह जगह वाहनों की चेकिंग कर रही थी और अवैध शराब के कारोबारियों के यहां भी दबिश देकर उन्हें दबोच भी रही थी। साथ ही मुखबिरों का जाल बिछा दिया गया था कि जहां भी अवैध शराब मौजूद हो इसकी जानकारी पुलिस को दे। यही वजह थी कि काफी मात्रा में अवैध शराब बरामद हो रही थी और अवैध शराब कारोबारी दबोचे भी जा रहे थे।

यह भी पढ़ें –

पटाखा फैक्ट्री में आग लगने के बाद पूर्वांचल के सभी जिलों में पुलिस अवैध पटाखा कारोबारियों को ढूंढने लगी। साथ ही यह भी पता किया जाने लगा कि किन किन स्थानों पर आबादी वाले इलाके में पटाखे बेचे जा रहे हैं। कुल मिलाकर पुलिस का पूरा ध्यान पटाखा कारोबार तक सिमट गया। इन स्थितियों के बीच अवैध शराब कारोबारी मौका पा गए औेर उन्होंने पूरे पूर्वांचल में अवैध शराब की भारी खेप पहुंचा दी। मार्च के इस महीने में पूर्वांचल के सभी जिलों में लाइसेंसी दुकानों पर शराब की किल्लत हो गई है। इसका भी फायदा उठाया जा रहा है। तमाम लाइसेंसी दुकानों से भी अवैध शराब बेची जा रहे हैं। यह अवैध शराब इतनी अधिक मात्रा में आ गई है कि आगामी लोकसभा चुनाव तक कोई कमी नहीं रहेगी।

यह भी पढ़ें –

इसके साथ ही आजमगढ़ जिले का देवारांचल इलाका समूचे पूर्वांचल में कच्ची शराब की आपूर्ति देता है। पुलिस का ध्यान पटाखा की ओर आकृष्ट होने की वजह से पूर्वांचल के सभी जिलों में कच्ची शराब की आपूर्ति दे दी गई है। यह कच्ची शराब इतनी सस्ती है कि गरीबों की यह पहली पसंद है। दस रुपये के छोटे पाऊच में तीन से चार लोग पानी मिला कर पीने के बाद पूरी तरह से संतुष्ट हो जाते हैं। कभी कभी यह कच्ची शराब इतनी जहरीली साबित होती है कि इससे कइयों की जान भी चली जाती है। पूर्वांचल में कच्ची शराब की आपूर्ति से कितनों की होली बदरंग हो जाए, कुछ नहीं पता।

संदीप अस्थाना, आज़मगढ़ से

loading...
Close
Close