पुलिस की मिलीभगत के चलते थम नहीं रहा कच्ची शराब का कारोबार

यूपी के रायबरेली जिले के गुरबख्श गंज थाना क्षेत्र में आबकारी विभाग की लचर कार्यशैली व पुलिस की सरपरस्ती में कच्ची शराब का काला कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है जहां एक ओर कच्ची जहरीली शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही करनी चाहिए।

वही थाना क्षेत्र की पुलिस की मिलीभगत के चलते शराब कारोबारियों के हौसले बुलंद है थाना क्षेत्र के  दर्जनों गांवों में दिनदहाड़े व शाम होते ही जगह जगह पर महफ़िल  सज जाती हैं कच्ची जहरीली शराब की  महफिले क्षेत्र की पुलिस सब कुछ जानने के बावजूद भी है खामोश ठंडक बढ़ते ही बढ़ जाती है।

कच्ची शराब की मांग देसी व अंग्रेजी शराब महंगी होने के कारण गरीब तबके के  युवा वर्ग के लड़के कच्ची जहरीली शराब पीकर एक ओर जहां अपना स्वास्थ्य व धन बर्बाद कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर इससे आबकारी विभाग को भी काफी क्षति हो रही है।

पुलिस चाहे तो क्षेत्र में 1 दिन में बंद हो सकता है कच्ची जहरीली शराब का काला कारोबार लेकिन इन्हीं शराब कारोबारियों से पुलिस को मोटी कमाई होने के चलते पुलिस इस पर किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं करती है और शराब कारोबारी शराब को नशीली बनाने के लिए तरह तरह के केमिकल व इंजेक्शन मिलाकर शराब को जहरीली बनाते हैं।

कच्ची जहरीली शराब से जहां एक ओर शराब कारोबारियों को अच्छी कमाई होती है वहीं दूसरी ओर पुलिस की जेब भी गरम रहती है क्षेत्र की कच्ची जहरीली शराब पीकर आए दिन लोग बीमार होते रहते हैं यहां तक कि कभी-कभी ज्यादा अधिक पी लेने की वजह से लोगों की जान तक चली जाती है।

एक ओर जहां आबकारी विभाग की लचर कार्यशैली का फायदा उठाकर शराब कारोबारी लोगों को जहर पिलाने से बाज नहीं आ रहे हैं वहीं दूसरी ओर पुलिस की मिलीभगत हो तो ऐसे में कारोबार करना कितना आसान हो जाता है गुरबख्श गंज थाना क्षेत्र में आबकारी विभाग को सर्च अभियान चलाकर शराब कारोबारी गांवों को चिन्हित करके उनके खिलाफ उचित कार्यवाही करनी चाहिए अगर ऐसा नहीं होता है।

तो किसी दिन कच्ची जहरीली शराब पीने से सहारनपुर रुड़की बाराबंकी जैसी भयानक स्थिति रायबरेली के गुरबख्श गंज थाना क्षेत्र में भी देखने को मिल सकती है स्वतंत्र प्रभात की टीम ने थाना क्षेत्र के दर्जनों गांव का दौरा किया जिसमें निम्न गांव में कच्ची जहरीली शराब खुलेआम बिकती देखी गई वह गांव निम्न प्रकार से हैं आशाराम का पुरवा कोरियर घाटमपुर गंभीरपुर बसिगवां गोझरी अमवन ।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close