पीने के पानी को लेकर दिल्ली में घमासान

अगले साल राजधानी दिल्ली में होने वाले चुनाव को लेकर अभी से माहौल गर्मा गया है। दिल्ली में प्रदूषित पानी को लेकर राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। दिल्ली भारतीय जनता पार्टी के नेता गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पीने का पानी लेकर जाएंगे। इस प्रतिनिधिमंडल में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के अलावा कई नेता शामिल होंगे।

दिल्ली बीजेपी के नेताओं ने शहर की 500 जगहों से पानी के सैंपल को इकट्ठा किया है, जिसे वह दिल्ली सीएम को सौंपेंगे। मनोज तिवारी के साथ विजेंद्र गुप्ता, सतीश उपाध्याय और अन्य नेता शामिल होंगे।

सड़कों पर लगे पोस्टर

दिल्ली में पानी पर राजनीति बढ़ती जा रही है, राजधानी में कई स्थानों पर पोस्टर लगाए गए हैं जिनमें केजरीवाल सरकार से सवाल पूछा गया है. पोस्टरों में लिखा गया है कि जहरीले पानी से दिल्ली में मचा हाहाकार।

भाजपा पहले प्रदूषण और अब पीने के पानी के मसले पर केजरीवाल सरकार को घेरे हुए है। भारतीय मानक ब्यूरो  के द्वारा जारी रिपोर्ट में दिल्ली के पानी को असुरक्षित बताया गया है, जिसके बाद से ही बवाल हो रहा है.

आम आदमी पार्टी की तरफ से लगातार केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का इस्तीफा मांगा जा रहा है और इस रिपोर्ट को राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार ने दिल्ली की जनता के साथ धोखा दिया है।

खड़े हुए सवाल!

दरअसल, दिल्ली की 11 जगहों की सूची केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने ट्वीट की थी, जिसमें दावा था कि यहां से पानी के सैंपल लिए गए हैं। इस लिस्ट में पहला पता बुराड़ी के रहने वाले दीपक कुमार रॉय का था, लेकिन जब आजतक की टीम ने दीपक कुमार से बात कि तो उन्होंने कहा कि उनके यहां से तो कोई पानी का सैंपल लिया ही नहीं गया। इसी के बाद से ही AAP केंद्र सरकार पर हमला कर रही है।

 चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close