पीने के पानी के लिए तरसा पाकिस्तान,मांग रहा मदद

पाकिस्तान की माली हालत इन दिनों इतनी ख़राब है कि ये बात अब किसी से छुपी नहीं रह गयी है। हालात इस कदर ख़राब हैं कि इमरान खान खुद अमेरिका में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी दुहाई दे चुके हैं। खुद को परमाणु संपन्न देश कहने वाला पाकिस्तान आजकल गरीबी से जूझ रहा है। लिहाजा हर छोटी-छोटी चीज़ों के लिए पाकिस्तान को अब तुर्की के सामने हाथ फैलाना पड़ रहा है। पीने के पानी से लेकर हॉस्पिटल और फिर लड़ाई के लिए हथियार, हर चीज़ के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोग़ान से मदद मांग रहे हैं। पिछले दिनों पाकिस्तान को तुर्की ने ‘कारकी’ विवाद में करीब 18 हज़ार करोड़ का जुर्माना माफ करवा दिया। अब पाकिस्तान को तुर्की की तरफ से पीने का पानी भी मिलने लगा है।

शुद्ध पानी का इंतज़ाम
पिछले दिनों सिंध प्रांत में तुर्की ने 4 वॉटर फिल्ट्रेशन प्लांट लगवाए। उम्मीद की जा रही है कि इससे करीब 10 लाख लोगों को शुद्ध पीने का पानी मिलेगा। तुर्की ने ये भी कहा है कि आने वाले दिनों में वो पाकिस्तान के कई और इलाकों में पीने के शुद्ध पानी का इंतज़ाम करवाएगा।

पाकिस्तान-तुर्की सम्बन्ध
पाकिस्तान-तुर्की की दोस्ती इस साल संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान गहरी हो गई। दरअसल यहां तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोग़ान ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के खिलाफ बयान दिया था।  इतना ही नहीं पिछले दिनों खबर आई कि तुर्की अब पाकिस्तान के लिए जंगी जहाज बना रहा है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close