शराब पीकर किया ऐसा काम..

बॉलीवुड में बेहद कामयाबी के साथ 5 दशक से ज्यादा वक्त बिताने वाले 84 वर्षीय ‘ही मैन’ धर्मेन्द्र ने शनिवार को ‘द कपिल शर्मा’ शो में एक मजेदार वाकया साझा किया। जब उन्होंने शराब के नशे में प्रख्यात फिल्म निर्माता-निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी को रातभर सोने नहीं दिया।फिल्म ‘पल-पल दिल के पास’ के प्रोमोशन के लिए कपिल के शो में धर्मेन्द्र ने बताया कि एक बार मैं और ऋषि दा फ्लाइट में बेंगलुरु से मुंबई आ रहे थे। उन्होंने रास्ते में मुझे फिल्म आनंद की कहानी सुनाई और कहा कि इसके लिए मैं तुम्हें साइन करूंगा।
कुछ दिनों बाद जब मुझे यह पता चला कि फिल्म आनंद में मेरी जगह राजेश खन्ना को ले लिया गया है तो मैं बहुत खफा हुआ। रात में मैंने पेग चढ़ाए और ऋषि दा के घर फोन किया। उनसे कहा कि ‘आनंद’ में मेरा रोल राजेश खन्ना को क्यों दे दिया? दादा बोले, ‘धरम सो जा, बाद में बात करेंगे।’ वो फोन रखते और मैं फिर लगा देता। वो समझाते मुझे लेकिन मेरी एक ही जिद… क्यों राजेश खन्ना को लिया… ऐसा करते-करते रातभर हो गई।
धर्मेन्द्र ने बताया कि ऋषि दा जैसे इंसान नसीब वालों को ही मिलता है। सनद रहे कि ऋषिकेश मुखर्जी ने जिस बॉलीवुड कलाकार को मौका दिया, वो हिट हो गया। राजेश खन्ना ‘आनंद’ में सुपरहिट रहे तो उससे पहले धर्मेन्द्र ‘सत्यकाम’ (1969) और फिल्म ‘अनुपमा’ (1966) में काम कर चुके थे। ये दोनों फिल्में सुपरहिट रहीं।
ऋषिकेश मुखर्जी से इतने आत्मीय संबंधों के कारण ही धर्मेन्द्र उनसे नाराज थे। फिर ऋषि दा ने धर्मेन्द्र को फिल्म ‘चुपके-चुपके’ में मौका दिया। ये फिल्म आज भी बेहद चाव के साथ पसंद की जाती है। 1975 में रिलीज हुई फिल्म ‘चुपके-चुपके’ में धर्मेन्द्र की कॉमेडी ने कमाल दिखाया था जिसमें वे बॉटनी के एक प्रोफेसर की भूमिका को निभाते हैं।
चीयर्स डेस्क 
loading...
Close
Close