दोबारा उबाल कर पानी पिया तो हो सकती है परेशानी

सभी जानते हैं कि उबला हुआ पानी पीना सेहत के लिए लाभदायक होता है। इसके सेवन से आपको बढ़ते वजन से लेकर पाचन तंत्र संबंधी कई परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है। लेकिन वास्तव में पानी को उबालने का भी एक तरीका होता है। अगर आप उबले हुए पानी को दोबारा गर्म करके पीते हैं तो यह आपको लाभ पहुंचाने के स्थान पर हानि भी पहुंचा सकता है। तो आइये बताते हैं पानी को दोबारा गर्म करके पीने से होने वाले नुकसानों के बारे में-

जहर बन जाता है
पहले आपको यह समझना होगा कि पानी को दोबारा उबाल कर पीना सेहत के लिए किस तरह नुकसानदायक है। दरअसल, जब पानी को उबाला जाता है तो उसमें कुछ बदलाव होते हैं। जो वास्तव में सेहत के लिए अच्छे माने जाते हैं। इस दौरान पानी के कंपाउड और गैसों में परिवर्तन आता है, लेकिन वहीं पानी को दोबारा उबाला जाता है तो उसमें मौजूद कुछ रसायन जैसे आर्सेनिक, नाइट्रेट्स और फ्लोराइड कॉन्सेंट्रेट हो जाते हैं। इतना ही नहीं, सेहत के लिए अच्छे माने जाने वाले और पानी में मौजूद मिनरल्स कैल्शियम सॉल्ट भी कॉन्सेंट्रेट होकर सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। जब कैल्शियम सॉल्ट कॉन्सेंट्रेट होकर शरीर में जाता है तो इससे आपको किडनी स्टोन और गैल्स्टोन होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है।
इसका प्रभाव
पानी को दोबारा उबालने से इसमें कुछ रसायन आर्सेनिक, नाइट्रेट्स और फ्लोराइड कॉन्सेंट्रेट हो जाते हैं। यह आपके शरीर पर विपरीत प्रभाव डालते हैं। मसलन, नाइट्रेट्स एक ऐसा रसायन है जो धरती, मिट्टी व हवा हर किसी में पाया जाता है। यह रसायन आपकी सेहत के लिए उस समय काफी घातक हो जाता है जब इसे बतौर फूड प्रिजर्वेटिव्स इस्तेमाल किया जाता है या फिर इसे उच्च तापमान पर गर्म किया जाता है। ऐसा करने पर यह नाइट्रेट्स नाइटोसेमिन में तब्दील हो जाता है।
इसके कारण आपको ल्यूकेमिया से लेकर कैंसर कोलन, मूत्राशय, डिम्बग्रंथि, पेट, अग्नाशयी और एसोफेजेल कैंसर होने की संभावनाओं में वृद्धि हो जाती है। वहीं फ्लोराइड रसायन आपके दिमाग की कार्यक्षमता पर विपरीत प्रभाव डालता है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में बच्चों पर हुए एक अध्ययन में यह बात सामने भी आई कि फ्लोराइड युक्त पानी आपके आईक्यू लेवल को प्रभावित करता है। तो अगर आप उबले हुए पानी को दोबारा गर्म करके पी रहे हैं तो हो जाइये सावधान ।
चीयर्स डेस्क 
loading...
Close
Close