तेलंगाना के सीएम को भेजा बदबूदार पानी

तेलंगाना राज्य में भी लोग भारी  जल संकट का सामना कर रहे हैं, कहीं पर लोगों को पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा तो कहीं पर जो पानी की सप्लाई आ रही है वो इतनी गन्दी है, की उस पानी को आप पीना तो दूर किसी और इस्तेमाल में भी नहीं ला सकते। इसी के चलते तेलंगाना राज्य में एक अजीबोग़रीब   मामला सामने आया है जहाँ कुछ अज्ञात व्यक्तियों ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव सहित कई वीआईपी, अधिकारियों और मशहूर हस्तियों के लिए बोतलों में दूषित पानी पार्सल करने का प्रयास किया। डाकघर में  डिलीवरी के लिए आये पार्सलों को पहले तो  स्वीकार कर लिया गया, लेकिन जब डिब्बों से बदबू आने लगी तो उन्हें रोक दिया गया। अनुमान लगाया गया कि ऐसा उन्होंने इसलिए किया ताकि, उनकी पानी को लेकर जो समस्याएं हैं  वो सरकार के कानों तक पहुंचे।

महाकाली पुलिस के मुताबिक, तीन लोग 60 पार्सल बुक करने के लिए 17 अगस्त को सिकंदराबाद पोस्ट ऑफिस आए थे। अधिकारियों ने पार्सल स्वीकार किए और सभी पार्सल की डिलीवरी के लिए 7,000 रुपये की रसीद जारी कर दी। जिन लोगों को ये पार्सल जाना था उनमें राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन, मुख्यमंत्री केसीआर, उनके बेटे और सत्तारूढ़ टीआरएस पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामाराव, बेटी कविता, डीजीपी एम महेन्द्र रेड्डी और कई वीआईपी, नौकरशाह और कुछ प्रमुख अभिनेताओं सहित मशहूर हस्तियां शामिल थीं। अजनबियों ने भेजने वालों के रूप में दो उस्मानिया विश्वविद्यालय के प्रोफेसरों के नाम और पते लिखवाए

डाक कर्मचारियों को शुरू में तो कोई शक नहीं हुआ। उन्होंने पार्सल को अलग रखा, सोमवार (अगस्त 19) को भेजने और बुधवार (21 अगस्त) तक डिलीवरी पूरी करने का इरादा था। लेकिन, घंटों के भीतर, पार्सल से तीखी गंध आने लगी। कर्मचारियों को कुछ संदिग्ध लगा तो उन्होंने महाकाली पुलिस को इसकी जानकारी दी

पुलिस ने पार्सल खोला तो उनको हर एक बोतल में 1.5 से 2 लीटर तरल पदार्थ मिला तरल में कोई जहरीली या ज्वलनशील सामग्री तो नहीं, इसके लिए जब्त की गई  बोतलों को फोरेंसिक परीक्षण के लिए भेजा गया। परीक्षणों में पता चला कि बोतलों में तरल दूषित पानी था।

पुलिस और डाक विभाग के अधिकारियों का मानना है कि उपद्रवियों ने अपनी जल से सम्बंधित समस्याओं को वीआइपी के संज्ञान में लाने के लिए इस काम को अंजाम दिया। महाकाली निरीक्षक वी जयपाल रेड्डी ने कहा कि पुलिस पार्सल बुक करने वालों की पहचान करने के प्रयास कर रही है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close