ट्रेलर में छिपाकर बिहार जा रही हरियाणा की शराब बरामद

बिहार में बेचने के लिए हरियाणा से शराब की तस्करी कोई नई बात नहीं, बाराबंकी बार्डर पर और लखनऊ में ऐसे ट्रकों को पकड़े जाने का भी  सिलसिला चल निकला है। इसी कड़ी में एक और ट्रक पकड़ा गया जिसकी चेसिस से शराब बरामद हुई। मामला बाराबंकी के कोतवाली नगर पुलिस का है, बाराबंकी पुलिस ने फिल्मी अंदाज में हो रही हरियाणा शराब की तस्करी का राजफाश किया है। बिहार ले जाई जा रही इस शराब को तस्करों ने खाली ट्रेलर (भारी वाहन) में छिपाया गया था। ट्रेलर की मूल फर्श के ऊपर एक और फर्श बनाकर शराब को दोनों के बीच बने स्थान पर 60 पेटी शराब छिपाकर रखी गई थी, जिसकी कीमत दस लाख से अधिक बताई जा रही है। हालांकि पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

एएसपी आरएस गौतम ने रविवार को पुलिस लाइन में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि नगर कोतवाल धर्मेंद्र सिंह रघुवंशी मिली सूचना के आधार पर देवा रोड पर स्थित भेड़हा नाला पर रविवार भोर टीम के साथ पहुंचकर चेकिग शुरू की। पुलिस को देख चालक खलासी को छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने वाहन को कब्जे में लेकर कागजात खंगाले तो उसमें फल को बिहार ले जाने के पेपर मिले। ट्रेलर में केवल चालक था अथवा उसके साथ और कोई था इसका पता नहीं चल सका है। बरामद शराब दिल्ली के रोहिणी निवासी जितेंद्र अत्री उर्फ लीला की है और वाहन हरियाणा के रोहतक जिले के इस्माइला निवासी नवीन का है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना की गई है।

चौंक गई पुलिस 

खाली ट्रेलर में पहले पुलिस काफी देर तक कुछ समझ ही नहीं सकी। काफी मशक्कत के बाद पुलिस छिपाकर रखी गई शराब बरामद की। छिपाकर रखने का तरीका देखकर पुलिस भी चौंक गई। एएसपी ने भी बताया कि उनके सामने यह अपने आप में पहला ऐसा मामला है।

दस लाख कीमत

एएसपी ने बताया कि ट्रेलर में कुल 60 पेटी शराब बरामद हुई है। जिसमें 2880 बोतलें हैं। डबल ब्लू प्रीमियम ब्रांड की इस विस्की की कीमत करीब दस लाख बताई जा रही है। यही नहीं मिलावट के लिए दस लीटर केमिकल भी पिपिया में बरामद हुआ है। इस टीम में एसएसआइ सतीश सिंह, एसआइ रवि सिंह, सिपाही राजेंद्र, रंजीत, महेश प्रताप आदि शामिल रहे।

चीयर्स डेस्क


देवताओं वाली शराब पिया करते थे राही मासूम रज़ा


 

loading...
Close
Close