जापानी बियर का बहिष्कार कर रहे दक्षिण कोरिया के लोग

बियर पीने के मामले में जर्मनी ही नंबर वन नहीं है, दक्षिण कोरिया के लोग भी बीयर काफी पसंद करते हैं। लेकिन इन दिनों उन लोगों ने राष्ट्रभक्ति दिखाते हुए जापानी बियर का बहिष्कार कर रखा है। बियर के साथ अन्य जापानी ब्रेवरेज़ भी हैं।

पिछले महीने जापान सैमसंग जैसे दिग्गज टेक कंपनियों के लिए जरूरी सामान जैसे चिप्स आदि के लिए उपयोग किए जाने वाले रसायनों के निर्यात पर सख्त प्रतिबंध लगा दिया। इससे वैश्विक स्तर पर तकनीकी क्षेत्र पर प्रभाव पड़ने की आशंकाओं को हवा मिली है। दक्षिण कोरिया के ने इस पर कहा था कि इससे अर्थव्यवस्था पर ’कोई प्रभाव नहीं’ पड़ेगा। इस मामले पर दोनों देशों के बीच बातचीत भी हुई लेकिन नाकाम रही।

यह भी पढ़े- बढ़ती जा रही औरतों के हाथ से बनी बियर की मांग

इसी के बाद से दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी हाइपर मार्केट श्रृंखला ई-मार्ट के अनुसार वहां बीयर पीने वाले जापान को लेकर अपना गुस्सा दिखा रहे हैं। उन्होंने चार बड़े जापानी ब्रांड बियर को पीना छोड़ दिया है। असही, किरिन, सपोरो और संतूरी चार बड़ी बियर कंपनियों की बिक्री जून के अंतिम 15 दिन के मुकाबले जुलाई के शुरुआती 15 दिनों में 25 प्रतिशत तक गिर गई।

यह गिरावट अचानक हुई है क्योंकि इससे पहले ऐसा लंबे समय से ऐसा नहीं हुआ था। इस अवधि में कोरियन ब्रॉन्ड के बियर ब्रांडों की बिक्री में 7 प्रतिशत की वृद्धि भी हुई।

यह भी पढ़े- कैसे और किससे बनती है रम, व्हिस्की, बियर और ब्रांडी

जापान और दक्षिण कोरिया के बीच दूसरे विश्व युद्ध के दौरान से चल रहा विवाद हाल के दिनों में बढ़ा है। इसने दक्षिण कोरिया में गुस्सा बढ़ा है। इस बीच दक्षिण कोरिया में किराने की लगभग 3,700 दुकानों ने कुछ या सभी जापानी उत्पादों की खरीद रोक दी है। इस तरह के बहिष्कार के बीच इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की गई है, जिसमें कहा गया है कि मैं जापान नहीं जाऊंगा, मैं जापानी उत्पाद नहीं खरीदूंगा आदि आदि।

इस प्रकार के पोस्ट अब वहां आम हो गए हैं। जापान में दक्षिण कोरिया जाने वाले लोगों के सबसे बड़े ऑनलाइन प्लेटफार्मों में से एक ने आंदोलन के समर्थन में अनिश्चितकालीन बंद की घोषणा कर दी है। इस प्लेटफार्म पर 10 लाख से अधिक यूजर यात्रा से संबंधित सुझाव साझा करते हैं और इस कारण सबसे अधिक जो कारोबार प्रभावित हो रहा है वह है बियर और लिकर का। दोनों देशों के बीच इस समय करीब दो सौ मिलियन डाॅलर का बिजनेस बियर और लिकर का होता है।

दक्षिण कोरिया और जापान दोनों लोकतांत्रिक देश हैं तथा अमेरिका के सहयोगी हैं। इनका मुकाबला तेजी से विकसित हो रहे चीन और परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया से है। हालांकि दक्षिण कोरिया के वामपंथी माने जाने वाले राष्ट्रपति मून जे इन ने कहा है कि जापान के खिलाफ स्वतंत्रता की लड़ाई दोनों देशों की राष्ट्रीय पहचान के केंद्र में है। इस तरह के बयान से जल्दी ही बात बन जाने की उम्मीद है लेकिन फिलहाल दोनों देशों के बीच बियर और लिकर के कारोबार प्रभावित होने से पीने वालों के मुंह का स्वाद सामान्य नहीं रह गया है। दक्षिण कोरिया में जापानी बियर काफी लोकप्रिय है। दक्षिण कोरियाई लोग जापानी बियर के लगभग दीवाने कहे जा सकते हैं।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close