जानें कब कैसे और किस समय पीना चाहिए पानी

हमें कब-कब प्यास लगती है? कई लोग तो ऐसे हैं जन्हें पूरा दिन प्यास ही नहीं लगती है। पानी हमारे शरीर के हर बॉडी पार्ट को सही से काम करने में मदद करता है। यह बॉडी से सभी प्रकार का कचरा बाहर कर देता है और साथ ही बॉडी का तापमान भी कंट्रोल रहता है। यह पथरी और कब्ज की समस्या को ठीक करता है। हमारे शरीर से पानी किसी ना किसी रूप में बाहर आता रहता है।

अगर आप गर्म इलाके में रहते हैं तो पसीने के रूप में अधिक पानी निकलता है। अपने शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए और स्वस्थ्य रखने के लिए पानी का ठीक से सेवन करने की जरूरत होती है। यह बात तो कई लोग जानते होंगे कि एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए पर ये बात भी जाननी जरूरी है कि किस समय कितना पानी पीना चाहिए।

पानी पीने का सही समय

जब प्यास लगे पानी तभी पीना चाहिए। प्यास ही बताती है की शरीर को पानी की जरूरत है। भोजन से तुरंत पहले पानी पीने से पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। भोजन से आधा घंटा पहले और आधा घंटा बाद ही पानी पीना चाहिए। भोजन के तुरंत बाद पानी पीने से शरीर फूलता है, मोटापा चढ़ता है और कब्ज की शिकायत हो जाती है।

कोई भी व्यायाम करने से पहले पानी पी लें, इससे मांसपेशियों को एनर्जी मिलती है। एक ही बार में पूरा ग्लास पानी नहीं पीना चाहिए। पानी को गर्म चाय की तरह एक-एक घूंट पीना चाहिए। सूखे होंठ भी प्यास लगने का एक संकेत हैं। इसलिए अगर आपके होंठ सूखे हैं, तो तुरंत पानी पी लेना चाहिए। किसी भी गर्म भोजन, खीरा, खरबूजा, आदि के बाद पानी पीने से बचना चाहिए।

सुबह उठने के बाद सबसे पहले पानी पीना चाहिए। चाय या कॉफी से पहले ही पाने पीएं इससे सेहत भी अच्छी रहेगी और कब्ज की समस्या भी नहीं होगी। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अधिक हाइड्रेट रहने की जरूरत होती है। इसलिए इस समय उन्हें थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहना चाहिए। उल्टी और दस्त की अगर समस्या हो गई है तो पानी, नमक और चीनी का घोल बनाकर दिन में 3 से 4 बार पीना चाहिए। सुबह उठकर शहद या नींबू के साथ पानी पीने से पेट पर जमी चर्बी कम होती है। साथ ही वजन कम करने में साहयक होती है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close