जानिए इन पांच तरह के पानी के बारे में

शरीर को स्वस्थ और फिट रखने में पानी की अहम भूमिका होती है। मानव शरीर में पानी की मात्रा 50-60 प्रतिशत होती है।  पानी शरीर के अंगों और ऊतकों की रक्षा करता है साथ ही कोशिकाओं तक पोषक तत्व और ऑक्सीजन पहुंचाने का काम भी करता है। जो लोग पानी पीते हैं वे अच्छी तरह इन सभी चीजों से वाकिफ़ होंगे। लेकिन हर प्रकार का पानी पीने से स्वास्थ्य को फायदा नहीं मिलता है। करीब 9 तरह के पानी होते हैं। हर पानी के अपने फायदे और नुकसान होते हैं। खाली पेट इनके क्या फायदे होते हैं ये जानते हैं। कुछ पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं तो कुछ नहीं भी होते।

मिनरल वॉट

इसमें सल्फर, मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है।  जो सभी चीजें स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती हैं।

फायदाः मिनरल्स युक्त पानी पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और स्वाद में भी बढ़िया होता है।

नुकसानः मिनरल्स युक्त पानी पर हर व्यक्ति खर्च नहीं कर सकता। अगर मिनरल्स युक्त पानी नहीं पी पा रहे हैं तो डायट पर ध्यान दें। पोषक तत्वों की कमी पूरी कर पाएंगे।

ग्लेशियर वॉटर

ये एक ऐसे प्रकार का पानी होता है जो बोतल बंद होता है और बताता है कि ये ग्लेशियर वॉटर है।

फायदेः अनुमान के हिसाब से देखा जाए तो माना जाता है कि ये सेहत के लिए सबसे साफ पानी होता है। इसमें किसी भी प्रकार के विषैले पदार्थ नहीं पाए जाते हैं। मिनरल वॉटर में पाए जाने वाले ही मिनरल्स इसमें भी पाए जाते हैं।

नुकसानः टैप वॉटर की तुलना में स्प्रिंग वॉटर थोड़ा महंगा होता है। ये फिल्टर न हुआ, कच्चा और बेस्वादा पानी होता है।  कई बार इसे पीने से लोग बीमार भी हो जाते हैं।

स्पार्कलिंग वॉटर 

ये सोड़ा पानी या कार्बोनेटेड वॉटर के नाम से जाना जाता है।  स्पार्कलिंग वॉटर में कार्बन डाइऑक्साइड गैस होती है।

फायदेः ये मुंह में अलग स्वाद देता है। अगर आप कुछ फिज़ी पीने का मन होता है तो ये ले सकते हैं। इसमें किसी भी प्रकार की आर्टिफिशियल चीनी नहीं मिली होती है।  ऐसा माना जाता है कि मार्केट में उपलब्ध स्पार्कलिंग वॉटर में किसी न किसी प्रकार की चीनी मिली होती है।

नुकसानः हालांकि, स्पार्कलिंग वॉटर में मिनरल्स होते हैं लेकिन ये स्वास्थ्य के लिए किसी भी तरह से सेहतमंद नहीं होते हैं।  ये काफी महंगा भी होता है।

फ्लेवर या इंफ्यूज किया पानी

फ्लेवर वॉटर एक ऐसा पानी होता है जिसमें मिठास मिलाई जाती है। ये आर्टिफिशियल होने के अलावा नैचुरल फ्लेवर भी हो सकता है।

फायदेः साधारण पानी में फ्लेवर मिला होता है। फ्लेवर पानी की खपत ज्यादा होती है। क्योंकि इसमें व्यक्ति को प्लेन पानी नहीं बल्कि स्वादिष्ट पानी पीने के लिए मिलता है।

नुकसानः फ्लेवर पानी में मीठा या आर्टिफिशियल स्वीटनर मिलाया जाता है. इससे वजन बढ़ने का खतरा हो सकता है. यहां तक की इससे डायबिटीज़ तक होने का खतरा हो सकता है.

एल्कलाइन वॉटर 

इस पानी का पीएच लेवल काफी ज्यादा होता है। इसमें मिनरल्स और ओआरपी (नेगेटिव ऑक्सिडेशन रिडक्शन पोटेंशियल) पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

फायदेः इसका पीए ज्यादा होता है इसलिए ये पानी शरीर में एसिड को समांतर करता है। एजिंग प्रक्रिया को धीमा करता है और कैंसर से बचाव करता है।

नुकसानः हालांकि, एल्कलाइन पानी पीना सेहत के लिए अच्छा होता है क्योंकि ये पेट का एसिड कम करता है।  लेकिन गंदे बैक्टीरिया को ये नहीं मार पाता है।  इसलिए जी-मिचलाना और उल्टी आना जैसी समस्याएं होने का खतरा होता है।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close