देहरादून में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत

अभी हाल ही में यूपी के सहारनपुर कुशीनगर में सैकड़ो लोगो की मौत जहरीली शराब के कारण हो गई थी।  बाराबंकी के रामपुर में सरकारी ठेके से लेकर शराब पीने से कई लोगो की जान चली गयी थी। ऐसा ही मामला  उत्तराखंड के देहरादून  से भी सामने आ रहा है जहां सरकारी शराब से ठेके  से  जहरीली शराब के सेवन से  छह लोगों की मौत हो गई है और चार की हालत खराब है। बताया जा रहा है कि मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। घटना के बाद से ही लोगों में आक्रोश बना हुआ है। मृतकों के नाम आकाश (22 साल) पुत्र किशन, सुरेंद्र (38 साल) पुत्र अशोक चौहान, इंदर, गुड्डु (35 साल) पुत्र नत्थू, राजेंद्र (45 साल) पुत्र प्यारे लाल और शरन पुत्र सुखलाल सभी निवासी पथरिया पीर देहरादून हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और तीन आबकारी अधिकारियों को भी निलंबित कर दिया है। गुस्साए परिजनों ने मसूरी विधायक गणेश जोशी के आवास घेराव किया और जमकर हंगामा काटा। इस मामले में स्थानीय लोगों ने बाहरी तत्वों द्वारा इलाके में अवैध शराब सप्लाई किए जाने का आरोप लगाया है। घटना के बाद स्थानीय विधायक गणेश जोशी समेत जिला प्रशासन तथा पुलिस के तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। स्थानीय लोगों ने बताया सुबह के तीन बजे के करीब कुछ बाहरी तत्व आकर इलाके में शराब की सप्लाई करते हैं। जिसको कुछ स्थानीय युवक मोहल्लों में डिलीवर करते हैं।

देसी शराब ठेके से खरीदी थी शराब

मामले में आबकारी विभाग की शुरुआती जांच में निकल कर आया है कि शराब देसी शराब ठेके से बेची गई है।आबकारी आयुक्त सुशील कुमार ने बताया कि शराब से हुई मौतों पर जिला आबकारी अधिकारी से प्रारंभिक रिपोर्ट ली गई है। ऐसी जानकारी मिली है कि देसी शराब ठेके से शराब बेची गई थी, जिसे पीने से मौतें हुई हैं। जिला आबकारी अधिकारी को तत्काल संबंधित बैच नंबर के शराब की बिक्री बंद रखने के आदेश दिए हैं। राजधानी के कई देसी शराब के ठेकों पर बिक्री रोक दी गई है। मामले में व्यापक जांच के आदेश भी कर दिए हैं।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close