चुनाव में पाबंदी के बावजूद खुले शराब के ठेके

हरियाणा में चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग के निर्देश थे कि पंजाब व हरियाणा बॉर्डर के साथ लगते करीब तीन किलोमीटर के दायरे में शराब के ठेके बंद रखे जाएं। लेकिन हैरत की बात थी कि पंजाब और हरियाणा हद से करीब तीन किलोमीटर के दायरे में स्थित शराब के ठेके सोमवार को खुले पाए गए। बहरहाल यहां सरेआम शराब की सेल होती रही। हालांकि दूसरी ओर पंजाब के एक्साइज अधिकारी इसे नियमों का उल्लंघन न होने की बात कहते रहे। अधिकारियों के अनुसार जिस जगह शराब के ठेके खुले हुए थे, वह हरियाणा बॉर्डर से करीब चार किलोमीटर दूरी पर स्थित है। इसके चलते इन्हें बंद नहीं किया जा सकता था। बहरहाल पूरे बलबेड़ा इलाके में इस मामले की चर्चा थी कि सरेआम शराब के ठेकेदारों द्वारा चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन किया गया।

हद से तीन किलोमीटर दूरी पर स्थित हैं यह शराब के ठेके

जानकारी अनुसार यहां चीका रोड पर स्थित अकाल एकेडमी से 500 मीटर दूरी पर हरियाणा हद है। वहीं दूसरी ओर एकेडमी से करीब दो किलोमीटर दूरी पर शराब के ठेके स्थित हैं। जबकि चुनाव आयोग के निर्देश थे कि तीन किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी शराब के ठेके बंद रहेंगे। जानकार तो यह भी बताते हैं कि शराब के ठेकेदारों सरेआम पिछले तीन दिन से शराब के ठेके खोलकर शराब सेल करते रहे। यही नहीं ठेकेदारों द्वारा शराब के रेट तक कम कर दिए गए, जिसके चलते ठेकों पर लोगों की काफी भीड़ भी लगती रही। हालांकि इस दौरान ठेके पर काम करने वाले कारिदों से बात की तो उनका कहना था कि वह तो यहां सिर्फ काम करते है। इसके अलावा उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

बलबेड़ा-2 के ठेके हद से नजदीक

एक्साइज विभाग के इंस्पेक्टर जगरूप सिंह ने कहा कि जिस जगह शराब के ठेके खुले होने की बात कही जा रही है वह बलबेड़ा-1 में स्थित है, जोकि हरियाणा हद से चार किलोमीटर से ज्यादा दूरी पर है। वहीं जो ठेका बलबेड़ा-2 में है, वह हरियाणा हद के नजदीक लगते है। उन्हें पहले ही बंद करवाया जा चुका है। जो शराब के ठेके हरियाणा से तीन किलोमीटर से ज्यादा की दूर पर स्थित हैं, को बंद नहीं करवाया जा सकता। पिछले दिनों में चेकिग भी की गई थी, पर ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close