गुजरात में घर-घर में पी जाती है शराब : अशोक गहलोत

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने शराबबंदी की मांग पर कहा कि वह इसका समर्थन करते हैं, लेकिन जब तक कड़े इंतजाम नहीं होंगे प्रतिबंध का कोई मतलब नहीं है। गहलोत ने गुजरात का उदाहरण देते हुए कहा कि आजादी के बाद से ही वहां शराब पर प्रतिबंध है लेकिन आलम यह है कि वहां सबसे अधिक इसकी खपत है और घर-घर में शराब पी जाती है।

राजस्थान में काफी समय से शराब बंद करने की मांग उठ रही है। पत्रकारों के एक सवाल का जवाब देते हुए गहलोत ने कहा, ‘व्यक्तिगत रूप से मैं शराब प्रतिबंध का समर्थन करता हूं। इसे एक बार यहां प्रतिबंधित कर दिया गया था, लेकिन यह विफल रहा और प्रतिबंध हटा दिया गया।’

किस राज्य में कब लागू हुई शराबबंदी

‘हर घर में शराब’
गहलोत ने गुजरात का उदाहरण देते हुए कहा, ‘आजादी के बाद से गुजरात में शराब पर प्रतिबंध लगा दिया गया। लेकिन यह गुजरात है जहां शराब की खपत सबसे अधिक है, घर-घर में शराब पी जाती है।’

‘सख्त इंतजाम के बाद ही प्रतिबंध सफल’

सीएम ने आगे कहा, यह गांधी के गुजरात की स्थिति है। प्रतिबंध के बावजूद वहां शराब की खपत सबसे अधिक है। यही वजह है कि मुझे लगता है कि जब तक कुछ कड़े इंतजाम नहीं होंगे, इस तरह के प्रतिबंध का कोई मतलब नहीं है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close