क्लोजिंग और चुनाव, दिल्ली से बड़ी मात्रा में मंगाई जा रही शराब

यूपी में हर साल की तरह इस बार भी शराब के ठेकों का नवीनीकरण, मार्च अप्रैल की क्लोजिंग का दौर है लेकिन इस बार शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज्यादा है और शराब की मांग तो पूछिए ही मत क्यूंकि लोक सभा चुनाव का दौर जो चल रहा है और पीने वालों की तो पौ बारह है तो पिलाने वालों के लिए समस्या बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ें – दुनिया का सबसे पुराना बार है डब्लिन का शाॅन्स बार

यूपी के हाईटैक शहर नोएडा और गाजियाबाद में इसी 11 अप्रैल को वोटिंग है। बताते चलें कि इन शहरों का चुनावी खर्चा आम सीटों की अपेच्छा कुछ ज्यादा ही महंगा होता है क्यूंकि यहां का कार्यकर्ता महंगा होता है और फिर उसके शौक भी महंगे होते हैं।

यह भी पढ़ें – शराब से आमदनी, शराब से नफरत…कौन आगे !

गौरतलब है कि यहां शराब का चलन बहुत ज्यादा है। शादी समारोह हो या फिर चुनाव का माहौल। चूंकि लोकसभा का चुनाव चल रहा है तो चुनाव प्रचार के नाम पर आज कल शराब पीने वालों की तो पौ बारह है और पिलाने वालों को शराब मिल नहीं रही है।

यह भी पढ़ें – मीना कुमारी की जिंदगी भी शराब, मौत भी शराब।

नतीजे में शराब दिल्ली से नोएडा और गाजियाबाद में लाई जा रही है क्यूंकि दिल्ली प्रदेश में 65 प्राइवेट वंेडर हैं और 35 सरकारी ठेके हैं तो जो सरकारी हैं उनका रिनुअल नहीं होता है तो वहीं से शराब मंगवा कर चुनाव प्रचार में इस्तेमाल कर रहे हैं और यही कारण है कि इस समय दिल्ली के सरकारी ठेकों की बिक्री बढ़ी हुई है।

यह भी पढ़ें –पांच सिगरेट से बेहतर है एक बोतल शराब !

इन इलाकों में होर्डिंग, पोस्टर और पम्फलेटों से अधिक शराब का मैनेजमेंट दिखाई दे रहा है। सूत्रों के अनुसार इस चुनाव में इसके लिए अलग से हर नेता के यहां कथित रूप से एक कोर कमेटी भी बनाई गई है जो शाम की पूरी व्यवस्था करने के लिए दिल्ली और हरियाणा के कई कई चक्कर काट रहे हैं। हालांकि 31 मार्च निकल जाने के दो तीन दिन बाद नोएडा की कुछ दुकानों पर कुछ ब्राण्डों की शराब मिलने लगी है पर अभी भी बड़े और महंगे ब्राण्डों की कमी है।

यह भी पढ़ें – फरमानों में फंस गए शराब कारोबारी

सूत्रों के अनुसार दो तीन दिन और गुजरने के बाद जब सभी ब्रांड मिलने लगेंगे तब भी दिल्ली से मंगाई जाने वाली शराब में कोई कमी नहीं आएगी क्योंकि दिल्ली में शराब के दाम यूपी से कम हैं और अगर पेटी पेटी शराब दिल्ली से लाई जाए तो यूपी के मुकाबले दिल्ली से खरीदी शराब बहुत सस्ती पड़ती है। दिल्ली में हंड्रेड पाइपर्स की बोतल करीब 1200 रुपए की है जो नोएडा में लगभग 1800 की बिकती है। इसी अनुपात में सभी ब्रांड की शराब के दामों में बड़ा अंतर है।

नोएडा से नीरज महेरे

loading...
Close
Close