क्या शराब में वास्तव में हैं एंटी-एजिंग शक्तियां ?

एक रीसर्च में बात सामने आई है कि शराब में पुनरुत्थान यानि एंटी-एजिंग शक्तियां हैं और इसमें स्वस्थ और लंबे जीवन का राज़ छिपा है। हम में से कई लोगों की ख्वाहिश होगी कि यह सच हो। आइए जानते हैं कि रिसर्च आखिर क्या कहती है।

क्या कहती है रिसर्च

नई स्टडी की मानें तो दिन में बियर या वाइन के दो ग्लास समय से पहले मृत्यू के जोखिम को कम कर सकते हैं। यहां तक कि यह रिसर्च ज़ोर देती है कि शराब रोज़ाना वर्कआउट करने से भी बेहतर है।

क्या है नतीजा

इस नतीजे पर पहुंचने के लिए शोधकर्ताओं ने 90+ अध्ययन के डेटा का विश्लेषण किया। यह अध्ययन ऐसे लोगों के बारे में था, जो 90 साल से अधिक उम्र के थे और उनकी जीवन शैली ऐसी थी कि वह इतना लंबा जी पा रहे थे।

इसमें पता चला कि जो लोग हर दिन 2 ग्लास वाइन या बीयर का सेवन कर रहे थे, उनमें अकाल मृत्यु का जोखिम 18 प्रतिशत कम हो गया, जबकि व्यायाम करने वाले लोगों में यह जोखिम सिर्फ 11 प्रतिशत ही कम हुआ। इसका कोई लिखित स्पष्टीकरण नहीं है, लेकिन शोधकर्ता का दावा है कि रोज़ाना थोड़ा बहुत पीने से आयु लंबी हो सकती है।

इस शोध से यह साफ है कि अगर रोज़ थोड़ी बहुत शराब पी जाए तो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। हालांकि, हमें सिर्फ एक अध्ययन को अपने विचारों का आधार नहीं बनाना चाहिए क्योंकि अधिकांश शोध अन्यथा दावा करते हैं।

चीयर्स डेस्क 

loading...
Close
Close