आरओ का सेल बढ़ाने के लिए तो नहीं आई ये रिपोर्ट

हाल ही में दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तीवारी ने कहा था कि केजरीवाल सरकार ने सरकारी अस्पताल इतने अच्छे कर दिए कि बड़े प्राइवेट अस्पताल बंद हुए जा रहे हैं। इस बयान से हुई किरकिरी कम नहीं हो पाई थी कि अब बीजेपी के एक और बड़े नेता ने निजी कम्पनियों की खुले आम हिमायत कर दी है। समझना मुश्किल है कि दिल्ली के बीजेपी नेता अति उत्साहित हैं या हताश।

यह  पढ़ें – केन्ट आरओ के वाटर टब में कुछ ही समय में जम जाती है काई, कंपनी के पास नहीं है इस समस्या से निपटने का उपाय

संसद में शून्यकाल के दौरान दिल्ली के बीजेपी सासंद विजय गोयल ने कहा कि दिल्ली में पानी की गुणवत्ता काफी खराब है और यह काफी गंभीर मुद्दा है, क्योंकि दिल्ली के अधिकतर घरों में आरओ नहीं है और ना ही वो लोग बोतल का पानी पीते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली को 3800 मिलयन लीटर पीने के पानी की हर रोज जरूरत होती है। उनके इस बयान को आरओ कम्पनियों की हिमायत वाला माना जा रहा है। गौरतलब है कि दिल्ली में एयर प्युरिफायर व आरओ की बिक्री में पिछले दिनो काफी तेजी आ गई है।

यह  पढ़ें – सप्लाई वाले पानी से खराब हुए आरओ

दिल्ली में हवा पानी की खराबी जग जाहिर है और दो तीन महीनों के बाद ही दिल्ली की विधानसभा के चुनाव होने हैं। यहां पर यह भी याद रखना जरूरी है कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली वासियों के लिए सीमित मात्रा मे पानी फ्री कर दिया है। इससे उनकी लोकप्रियता बढ़ी है और बीजेपी के नेता किसी भी कीमत पर उन्हे हराने के लिए उनके हर सियासी दांव की काट ढूंढते रहते हैं। मनोज तिवारी और विजय गोयल के बयानों के इसी परिप्रेक्ष्य में देखा जा रहा है और गोयल के बयान को तो आरओ कम्पनियों के पक्ष में खुला बयान कहा जा रहा है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close