अब बांस की बोतल में मिलेगा पानी

प्रधानमंत्री मोदी ने प्लास्टिक के दुष्प्रभावों को ध्यान में रखते हुए 2 अक्टूबर से सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर बैन लगाने की बात कही थी। इसके तहत एमएसएमई मंत्रालय के अधीन कार्य करने वाली खादी ग्रामोउद्योग ने बांस की पीने के पानी की बोतल मार्केट में लांच करने का फैसला किया है। प्लास्टिक का इस्तेमाल सिर्फ इंसान ही नहीं बल्कि जानवरों के लिए भी बहुत खतरनाक है।  इससे ना ही पर्यावरण दूषित होता है बल्कि कई तरह की बीमारियां भी फैलती हैं।  यही नहीं देश भर में बढ़ रहे कचरे का भी सबसे बड़ा कारण प्लास्टिक ही है, क्योंकि इसे नष्ट करना काफी मुश्किल होता है।

सेहत के लिए भी होगी फिट
यह पर्यावरण को अनुकूल रखने के साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद रहेगी।  इस बोतल की क्षमता कम से कम 750 एमएल होगी।  इसकी कीमत 300 रुपए से शुरू होगी।  यह बोतल लम्बे समय तक टिकाऊ रहेगी और ख़राब होने के बाद आसानी से डिस्पोज़ भी करी जा सकेगी।

अक्टूबर में होगी लांच 

यह बोतल सेंट्रल एमएसएमई मिनिस्टर नितिन गडकरी 1 अक्टूबर को लांच करेंगे और 2 अक्टूबर से इसकी बिक्री खादी स्टोर में शुरू हो जाएगी।  इसे पहले भी प्लास्टिक पर रोक लगाने के लिए कुल्हड़ के ग्लास को बढ़ावा दिया गया था। केवीआईसी ने पहले ही प्लास्टिक की जगह कुल्हण का निर्माण शुरू कर दिया है और इस प्रक्रिया के तहत अभी तक 1 करोड़ से भी ज्यादा मिट्टी के कुल्हड़ बनाए जा चुके हैं।  केवीआईसी ने साल के अंत तक 3 करोड़ कुल्हड़ बनाने का लक्ष्य रखा है।

चीयर्स डेस्क

loading...
Close
Close